-->

मोबाइल का इन्शुरन्स (Mobile Insurance )कैसे और कहा से करे पूरी जानकारी हिंदी मे

हेलो दोस्तों क्या आप बिना मोबाइल स्मार्टफोन एक दिन रह सकते है ? बोहोत सारे लोग इसका जवाब न मे देंगे। मोबाइल इस दौर मे हर रोज के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। ऑफिस हो या घर हम लगभग मोबाइल पे ही लगे रहते है। और इसके लिए हम ज्यादा कीमती और अच्छा मोबाइल खरीद लेते है। इस लिहाज से मोबाइल की सुरक्षा भी जरुरी हो जाती जैसे बाइक कार का इन्शुरन्स निकला जरुरी  होता है ठीक वैसे ही।




    मोबाइल बिमा असल मे क्या बात है ?

    मोबाइल इन्शुरन्स एक ऐसा बिमा है जिससे आप आपके मोबाइल से होनेवाले संभावित नुकसान से बच सकते है। जिसमे आपका फ़ोन चोरी गुम या फिर गिराने से होनेवाले नुकसान से बचता है। इसके लिए आपको IRDA द्वारा प्रमाणित कम्पनिया द्वारा दीया गया इन्शुरन्स प्लान खरीदना पड़ता है। 

     क्यों करना चाइये मोबाइल इन्शुरन्स :

    • अगर आप ऐसे इंसान हो जो चीजे रखकर भूल जाते हो तो आपको बिमा करने से संभावित नुकसान टाला जा सकता है। 
    • ऐसा भी होता है आपके पास मोबाइल फ़ोन इससे पहले भी कई बार गिरे हो। 
    • अगर आपने नया फ़ोन EMI पे लिया हो तो आपको ज्यादा नुकसान हो सकता है इसके लिए बिमा करना अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। 
    • अगर आपके I Phone जैसा कीमती फ़ोन हो जिसकी कीमत लगभग एक बाइक के बराबर होती है। 
    • फ़ोन का डैमेज होने के बाद का खर्चा कई बार करना पड़ता है। 

    मोबाइल इन्शुरन्स सेवा लेबे के फायदे :(Benifits Of Mobile Insurance )

    • ज्यादा मिमती मोबाइल का रिपेयर का खर्चा भी ज्यादा बिमा करने से आप इस  खर्चे से बच जाते है। 
    • अगर पानी जाने से आपका फ़ोन अचानक बंद हो जाता है तब इस खर्चे के कारन आपको तकलीफ होती है बिमा करने से आप इससे निश्चिंत रह सकते है। 
    • बिमा इन्शुरन्स कम्पनिया मोबाइल बिमा के आलावा कुछ अन्य सुविधाएं भी देती है। 
    • फ़ास्ट और कैशलेस सुविधा से क्लेम आसान हो जाता है। 

    एक्सटेंडेड वॉरेंटी या मोबाइल इन्शुरन्स क्या है बेहतर विकल्प :


    वारंटी बढ़ाना  मोबाइल का बिमा करना 
    फ़ोन के  द्वारा सुविधा मिलती है  इन्शुअरन्स कंपनी से सुविधा ले सकते है 
    चोरी होने पर  कुछ नहीं मिलता।  चोरी होने पर कवर मिलता है 
    फ़ोन के डैमेज पर आपको रिपेयर का खर्चा नहीं मिलता है।  डैमेज  होने पर रिपेयर का खर्चा मिलता है
    आपके फ़ोन के कीमत मे ऐड किया जाता है  प्रीमियम के पैसे भरकर बिमा लेना पड़ता है 
    पहले से होने वाले डैमेज अन्य उपकरणों के नाकाम होने पर रिपेयर किया जाता है  पहले से होने वाले डैमेज पर कवर नहीं मिलता 


    किन बातो पर इन्शुरन्स कवर  मिलता है ?

    • अगर आपका फ़ोन चोरी हो जाता है आपको मोबाइल बिमा से क्लेम मिल  जाता है। 
    • मोबाइल गिराने से कई बार मोबाइल बंद हो जाता है स्क्रीन काम करना बंद कर देती ऐसे मे आने वाला खर्चा आपको मुश्किल मे दाल देता है इसके लिए बिमा लेना अच्छा विकल्प है। 
    • अगर मोबाइल मे आग लगने से मोबाइल ख़राब हो जाता है तो भी आपको बिमा क्लेम मिल जाता है। 
    • बारिश के मौसम मे कई बार मोबाइल ख़राब हो जाता है आप बिमा कवर लेकर निश्चिंत रह सकते है। 


    बिमा लेने से आपको मिलने वाली  अतिरिक्त  सुरक्षा सेवा :

    • आपके फ़ोन के बैटरी और अन्य उपकरणों पर  भी आपको सुरक्षा कवर मिलता है जैसे की कभी कभी ख़राब बैटरी आपके  मे दी जाती है। 
    • ऐसे बिमा कवर होते है जिनमे क्लेम की बजाये फ़ोन रिपेयर करके दिया जाता है। 

    मोबाइल इन्शुरन्स कैसे लिया जाता है ?

    मोबाइल इन्शुरन्स लेना बाकि इन्शुरन्स  के मुकाबले बोहोत आसान है चलिए जानते है आसान स्टेप्स मे 
    • सबसे पहले जब आप मोबाइल खरदीदते है तब आपको बिमा के बारे मे पूछ जाता है। आप तभी स्टार्टिंग प्रीमियम भरकर बिमा चालू कर सकते है। 
    • इसके आलावा हम जब ऑनलाइन फ़ोन लेते है तब आपको फ़ोन के साथ ही बिमा कवर लेने की सुविधा दी जाती है। ऐसे समय आपकी बिमा प्रीमियम की राशि एक ही  बार मे फ़ोन के कीमत के साथ ही आपको भरनी होती है। 
    • अगर आपने फ़ोन के साथ बिमा कवर नहीं लिया है तो आपको बिमा कंपनी के वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भर सकते है। उसके बाद जरुरी प्रीमियम भरकर आप मोबाइल बिमा शुरू कर सकते है। 
    • जब आप मोबाइल बिमा खरीदते है तभी आपको बिमा सेवा का समय बताया जाता है। उसकी तिथि ख़तम होने पर आप उसे फिर से renew भी कर सकते है। 

    कौन सी  कारणों पर बिमा कवर /क्लेम नहीं मिलता है। 

    • अगर आप खुद  जान बूझकर मोबाइल को नुकसान पहुचते है तो इसपर  बिमा कवर नहीं मिलेगा। 
    • अगर आपके फ़ोन मे सॉफ्टवेयर सिस्टम मे कोई गड़बड़ी आती है तो इसपर आपको क्लेम नहीं मिलेगा। 
    • मोबाइल मे पहले से कुछ समस्या हो तो इसको भी बिमा कवर मे  शामिल नहीं किया जा सकता। 

    • आपके शहर के मौसम मे बदलाव के कारन होने वाले डैमेज। 
    मोबाइल इन्शुरन्स की क्लेम प्रक्रिया :

    वैसे हर इन्शुरन्स की क्लेम प्रक्रिया अलग अलग होती है मे आपको यहाँ पर एक सामान्य क्लेम प्रोसेस की जानकारी दूंगा। 

    • सबसे पहले फ़ोन गुम या फिर डैमेज होने के बाद आपको कंपनी द्वारा बताई गए समय के पहले कंपनी को इस बात की जानकारी देनी होगी। आप उनके टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते है या फिर उनके वेबसाइट पर जाकर भी इसकी जानकारी दे सकते है। 
    • उसके बाद आप  बिमा कंपनी  के वेबसाइट पर जाकर क्लेम फॉर्म भरना होगा आप इस फॉर्म को उनके नजदीकी कार्यालय मे जाकर भी भर सकते है। 
    • गुम या फिर चोरी हुए मोबाइल के लिए आपको सबसे पहले पुलिस स्टेशन मे FIR दर्ज करना पड़ेगा। और उसकी कॉपी [बिमा कंपनी को सबमिट करनी होगी। 
    • आग लगने के बाद फ़ोन के डैमेज के लिए भी आपको फायर रिपोर्ट की कॉपी देनी होगी। 
    • आपको डैमेज मोबाइल के कुछ फोटो निकलकर बिमा कंपनी को भेजने होंगे। 
    • उसके बाद आपके क्लेम फॉर्म और फ़ोन की जाँच की जाती है। और आपके बिमा पालिसी कवर के अनुसार आपको क्लेम या फिर फ़ोन रिपेयर करके दिया जाता है। 
    • आपके क्लेम प्रोसेस के दौरान कोई भी सहातया से लिए आप उनसे ग्राहक सहायता से जुड़ सकते है। 

    क्लेम प्रक्रिया के लिए जरुरी दस्तावेज :

    • मोबाइल फ़ोन की असली बिल कॉपी 
    • चोरी हुए फ़ोन के लिए FIR देना होगा। 
    • डैमेज फ़ोन के फोटोज 
    • क्लेम फॉर्म 
    • बैंक पासबुक 


    मोबाइल इन्शुरन्स की सेवा देने वाली सबसे अच्छी कम्पनिया 


    १ टाइम्स ग्लोबल मोबाइल इन्शुरन्स :

    टाइम्स ग्लोबल पूरी दुनिया मे मोबाइल इन्शुरन्स की सेवा देने के लिए जानी जाती है। टाइम्स मोबाइल इन्शुरन्स के लिए आपको आप्लिकेशन फॉर्म और आपके फ़ोन का फोटो सबमिट कर देना है उसके बाद प्रीमियम भरके आपको बिमा पालिसी चालू हो जाती है। 

    • डैमेज और रिपेयर के लिए कैशलेस क्लेम सेवा 
    • चोरी होने के बाद का कवर 
    • लगभग दुनिया के सभी देशो मे सुविधा उपलब्द। 
    • अगर २ या ३ साल मे कोई क्लेम दवा नै किया तो ५० प्रतिशत और २५ प्रतिशत की बिमा राशि वापिस दी जाती है। 
    • रिपेयर के लिए अच्छी ग्राहक सेवा 
    टाइम्स ग्लोबल के मोबाइल बिमा कवर प्लान्स 
    सौजन्य :टाइम्स ग्लोबल वेबसाइट 
    २  One असिस्ट मोबाइल इन्शुरन्स :

    One असिस्ट के द्वारा आप सभी तरह के छोटे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का इन्शुरन्स कर सकते है। आप One असिस्ट इन्शुरन्स की जानकारी उनके एप्लीकेशन द्वारा चेक कर सकते है। 

    • सभी तरह का डैमेज सुरक्षा कवर शामिल (पानी से या फिर अचानक से होने वाला डैमेज )
    • मोबाइल रिपेयर करने तक आपको दूसरा एक फ़ोन दिया जाता है। 
    • मोबाइल रिपेयर सिर्फ कमपनी के अधिकृत डीलर के पास किया जाता है। 
    • १ साल पुराने मोबाइल तक आप बिमा कर सकते है। 
    • कॅश लेस्स क्लेम रिपेयर सुविधा। 
    • मोबाइल आपके घर से रिपेयर के लिए लिया जाता है और फिर वापिस भी घर पर दिया जाता है। 
    • २४ घंटे सेवा 
    • आप one असिस्ट की वेबसाइट पर जाकर आपके फ़ोन खरीद की तिथि फ़ोन की कीमत तथा फ़ोन का ब्रांड नाम डालकर आपके लिए अच्छी बिमा कवर प्लान देख सकते है। उदाहरण के तौर पर निचे की इमेज देखिये जिसमे मैंने मेरे नोट ५ प्रो का निकला है। 
      सौजन्य :One असिस्ट वेबसाइट 
    ३ सिका गाड्जेट सिक्योर मोबाइल इन्शुरन्स :

    सिस्का गाड्जेट सिक्योर से आप आपके नया  फ़ोन का बिमा कवर ले सकते है। इसके लिए आपको फ़ोन लेने के बाद १५ दिन के  अंदर आवेदन करना होगा। 

    • सभी तरह के अपघाती डैमेज का कवर 
    • इन्शुरन्स के साथ आपको फ्री मे एंटीवायरस का आप्लिकेशन दिया जाता है 
    • कैशलेस क्लेम सेवा 
    •  सिर्फ नए फ़ोन के लिए ही बिमा करा सकते है। 
    • चोरी हुए फ़ोन को ट्रैक और ब्लॉक  कर सकते है 
    • इन्शुरन्स सेवा के साथ ३००० मूवीज फ्री मे 
    सौजन्य :Syska गैजेट सिक्योर वेबसाइट

    ४ क्विक हील गैजेट इन्शुअरन्स :

    क्विक हील ाएंटीवायरस सेवा देने वाली सबसे बड़ी कंपनी है और इसका नाम भी सबसे ज्यादा लोकप्रिय है।आप क्विक हील के प्लान्स को  अमेज़न पर  भी खरीद सकते है।  ६०० से लेकर २५०० तक के बिमा कवर प्लान्स दिए जाते है। 
    • १ साल का डैमेज कवर 
    • २ साल  तक का एप्लीकेशन द्वारा फ़ोन के एंटीवायरस सिक्योरिटी 
    • फ़ोन लेने के बाद १५ दिन के अंदर बिमा लेना जरुरी 
    •  कैशलेस क्लेम और रिपेयर सेवा 


    ५ Onsite Go मोबाइल इन्शुरन्स :

    onsite go से भी आप मोबाइल इन्शुरन्स कर सकते है। इसमे आप नए और पुराने दोनों फ़ोन का बिमा कर सकते है। 

    • फ़ोन के  डैमेज पर रिपेयर और रेप्लस करने की सेवा 
    • घर से फ़ोन रिपेयर के लिए लिया जाता है फिर से वापिस दिया जाता है। 
    • अचानक से बंद पड़ने पर भी कवर दिया जाता है 
    • १ साल के लिए वॉरेंटी बढ़ा दी  जाती है। 
    सौजन्य :On Site Go वेबसाइट
    ६ MI प्रोटेक्ट मोबाइल इन्शुरन्स :

    MI प्रोटेक्ट जो की शाओमी की तरफ से बिमा सेवा दी जाती है अगर आपका रेडमी का फ़ोन है तो आप इससे बिमा कवर ले सकते है। 

    सौजन्य :MI प्रोटेक्ट 

    इसके आलावा और भी बोहोत सारे बिमा कंपनिया मोबाइल बिमा सेवा प्रदान करती है। अगर आपको किसी अन्य कपनी की  जानकारी चाहिए तो कमेंट करके जरूर बताना। 

    मोबाइल इन्शुरन्स से जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब :


    १ अगर मोबाइल के अंदरूनी पार्ट को हानि पहुँचती है तो क्या इसका कवर मिलता है?

    जी है जब आप बिमा लेते है तब इन्शुरन्स कंपनी आपको इस बारे मे सब जानकारी देती है। जिसमे आपको इस तरह का कवर मिल जाता है। 

    २ क्लेम प्रोसेस पूरी होकर क्लेम राशि कितने दिन मे मिल जाती है ?

    क्लेम की जाँच प्रक्रिया पूरी होने के बाद १५ स ३० दिन मे क्लेम राशि मिल जाती है। 

    ३ क्या १ से ज्यादा क्लेम रिक्वेस्ट की जा सकती है ?

    अगर आपके पहले के क्लेम के बाद बैलेंस राशि बची है तो आप क्लेम के लिए आवेदन कर सकते है। 

    ४ क्लेम का स्टेटस कैसे चेक करे ?

    क्लेम का स्टेटस चेक करने के लिए आपने जिस नीमा कपनी से बिमा लिया है उसकी वेबसाइट पर जाकर आप क्लेम का स्टेटस जान सकते है। 

    ५ क्लेम राशि का लिमिट कितना होता है ?

    वैसे आपकी प्रीमियम की राशि के अनुसार क्लेम की राशि होती है लेकिन ये बार पूरी तरह बिमा कंपनी निश्चित करती है। 

    ६ क्या भारत के बहार फ़ोन लेने पर इन्शुरन्स कवर मिलेगा ?

    जी है कुछ ऐसी बिमा कम्पनिया है जो की वर्ल्ड वाइड बिमा सुविधा देती है जैसे की टाइम्स ग्लोबल 


    तो ये सब हुआ अपने फ़ोन से होने वाले डैमेज के बाद जो संभवित नुसकान होने वाला है उसे टालने या फिर कम करने के लिए बिमा पालिसी लेना। वैसे तो इससे आपका बोहोत सारा टाइम भी बच जाता है और कुछ पैसे भी। लेकिन मेरे पास ऐसी ट्रिक है जिससे आपको इन्शुअरन्स किये बिना भी इससे बच सकते है। इसके लिए मे अलग से कुछ पैसे फ़ोन रिपेयरिंग के लिए भी रख सकता है। 

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ