-->

टर्म इन्शुरन्स के क्लेम के लिए आवेदन कैसे करे क्लेम प्रक्रिया की पूरी जानकारी

टर्म इन्शुरन्स एक सबसे आसान बिमा प्रकार माना जाता है और उसकी  और इसमे आपको ज्यादा बिमा कवरेज के का डेथ बेनिफिट मिलता है। और आपको क्लेम के लिए आवेदन करने के बाद आपको क्लेम की राशि एकमुश्त तरीके से दी जाती है। इसमे आपको बिमा की राशि है आपको लेते वक़्त ही चुनना पड़ता है की आपको बिमा राशि की तरह लेनी है आप हर महीने थोड़ी थोड़ी राशि लेने का विकल्प भी चुन सकते है। लेकिन इससे पहले टर्म इन्शुरन्स मे क्लेम के लिए आवेदन कैसे करे जानना जरुरी होगा।




    बिमा धारक की मृत्यु होने के बाद टर्म इन्शुरन्स क्लेम प्रक्रिया :

    • बिमा धारक के मृत्यु के बाद नॉमिनी को क्लेम के लिए आवेदन करना चाहिए। 
    • क्लेम के लिए आवेदन करने के लिए आप कंपनी के वेबसाइट पर जाकर क्लेम फॉर्म भर सकते है जो की ऑनलाइन आवेदन होगा। या फिर नजदीकी ब्रांच मे जाकर भी क्लेम आवेदन कर सकते है। 
    • आप बिमा कंपनी के टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके क्लेम करने की जानकारी दे सकते है। 
    • उसके बाद आपको क्लेम आवेदन फॉर्म को भरना है 
    • क्लेम फॉर्म के साथ आपको कुछ जरुरी दस्तावेज सबमिट करने होंगे। 
    • आपको टर्म इन्शुरन्स पालिसी का असली अस्तवेज देना होगा। 
    • बिमा धारक के असली डेथ प्रमाणपत्र को भी आपको देना होगा। 
    • उसके बाद अगर कोई और दस्तावेज हो तो बिमा कंपनी आपसे उसे भी देने को कहेगी। 
    • अपघात से मृत्यु के समय आपको पुलिस स्टेशन से FIR रिपोर्ट लेना होगा। 
    • उसके बाद मेडिकल बिल्स और बाकि दस्तावेज अस्पताल से लेने होंगे। 
    • बैंक खाता स्टेटमेंट। 
    • पोस्ट मोर्टेम का रिपोर्ट भी बिमा कंपनी मांग सकती है। 
    • सभी दस्तावेज को सबमिट करने के बाद बिमा कंपनी आपके दस्तावेज को चेक करेगी और सभी जाँच पूरी होने के बाद आपका क्लेम स्वीकार किया जायेगा। 
    • और बिमा लाभ की राशि जिसे आप किस तरह स्वीकार ;करना है उस तरह कर सकते है। 
    • बिमा कंपनी आपको बिमा की राशि बैंक ECS द्वारा भेज देती है। 
    • अगर बिमा धारक ने जिस नॉमिनी को चुना है उसकी भी मृत्यु हो जाती है तो उसके बाद जो क़ानूनी वारिस होगा उसे बिमा राशि दी जाती है। 
    • अगर नॉमिनी की मौत बीमाधारक के पहले हो जाती है तो बिमा धारक को कोई और को नॉमिनी चुनना होगा। 

    टर्म इन्शुरन्स क्लेम की राशि किस तरह से ले सकते है ?

    • इस बात के कारन ही टर्म इन्शुरन्स सबसे अच्छी पालिसी बन जाती है क्यों की आप आपके अनुसार बिमा की राशि ले सकते है एकमुश्त या फिर कुछ समय के इंटरवल मे। 
    • आप एकमुश्त राशि का विकल्प चुन सकते है जिसमे आपको पूरी बिमा राशि एक साथ दी जाती है। 
    • आप एकमुश्त और हर महीने थोड़ी थोड़ी राशि का विकल्प भी चुन सकते है। जिसमे समझ लीजिये की आपकी बिमा राशि १ करोड़ है तो आप ५० लाख एकमुश्त तरीके से और ५० लाख हर महीने थोड़ी थोड़ी राशि का विकल्प चुन सकते है। 
    •  इसके आलावा एक ऐसा विकल्प है जिसमे आप हर महीने के इनकम के तौर पर बिमा राशि क्लेम ले सकते है। १ करोड़ की बिमा राशि अगर हर महीने १ लाख को लेते है तो आपको ८३ महीने तक हर महीने १ लाख की राशि मिलती रहेगी। 

    टर्म इन्शुरन्स प्लान मे इन बातो पर नहीं मिलेगा क्लेम :

    • सबसे पहले तो आपको ऐसी कोई बिमा पालिसी नहीं मिलेगी जिसमे आत्महत्या के बाद क्लेम मिलता है। टर्म इन्शुरन्स पालिसी मे भी आपको कोई क्लेम नहीं मिल सकता और पालिसी बंद हो जाती है। 
    • अगर किसी गंभीर बीमारी पर आप पालिसी चालू होने के ४८ महीने ट्रीटमेंट ले रहे हो तो पालिसी मे इसपर क्लेम कवर नहीं मिलेगा। 
    • गंभीर बीमारी राइडर मे अगर वेटिंग समय के पहले आपकी ट्रीटमेंट की जरुरत पड़े और आपको वेटिंग समय ख़तम करने के लिए ट्रीटमेंट से माना किया तो आपको इसपर भी कोई कवर नहीं मिलेगा। 
    • कोई आतंकी हमला ,युद्ध ,ऐसी घटनाओ के ऊपर आप क्लेम के लिए आवेदन नहीं कर सकते है। 
    • दारु या फिर नशे की हालत मे कुछ होने पर उसका भी क्लेम आपको नहीं मिल सकता। 
    • अगर आप ऐसे खेल मे शामिल है जिसमे आपको चोट लगने की ज्यादा संभावना होती है टर्म इन्शुरन्स ऐसे समय गंभीर बीमारी कवर नहीं देता है.

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां