-->

कोरोना वायरस का कहर जाने कैसी होनी चाहिए इस स्तिथि मे आपका आर्थिक नियोजन

कोरोना वायरस से सिर्फ लोगो के आरोग्य पर ही ख़राब असर नहीं पड़ रहा बल्कि उनके आर्थिक जीवन पर भी काफी असर पड़ रहा है और इससे आगे भी पड़ेगा। और जिस तरह इस संकट के कारन बड़े बाद शहर पूरी तरह से बंद करने पड़ रहे है आगे चल कर और भी बद्द्तर हालत का सामना आपको करना पड़ सकता है। इस ख़राब दौर मे आपके आरोग्य का ख्याल तो आप रख लेते है लेकिन उसके बाद जब आपके आर्थिक स्थिति की बाद आती है आप परेशानी मे पड़ जाते है लेकिन अगर अच्छे प्लानिंग के साथ आप आपका आर्थिक नियोजन भी करेंगे तो आप इस संकट से स्वास्थ और आर्थिक दोनों परेशानी का हल पा सकते है। तो चलिए जानते है कैसे करे खुद का आर्थिक नियोजन 



खुद का अलग आर्थिक नियोजन प्लान बनाये :

ऐसे समय  कुछ भी हो सकता है आपकी जॉब जा सकती आपके घर के सदस्य बीमार पड़ सकते है। लॉक डाउन के कारन आपको आपके व्यवसाय मे घाटा हो सकता है। चाहे कुछ भी हो आपको ऐसा आर्थिक नियोजन करना है की आप इस पैनिक स्तिथि को झेल सकते है। इसमे आपको आपकी कोई भी इन्वस्टमेंट लोस्स मे बेचने का निर्णय नहीं लेना है। सैलरी का ऐसा नियोजन करे की सब कुछ होने के बाद आपके पास अच्छी सेविंग बचनी चाहिए इस स्तिथि अपने कुछ शोक को कम कर सकते है। 

आपातकालीन फण्ड :

इस तरह की कुछ बचत जो की आपातकालीन स्तिथि मे आपके काम आ सकती है। ऐसा नहीं है की सिर्फ कोरोना वायरस के संकट समय ही आपको इसकी जरुरत पड़ेगी बल्कि किसी भी समय आपको इन पैसो की जरुरत पड़ेगी इससे आप लोन के जाल से भी बच सकते है। आपातकालीन समय मे तुरंत पैसे ना होने पर आप चिंता मे फस सकते है। 

बिमा करना भी जरुरी है :

आपके आर्थिक नियोजन मे किसी अच्छे कंपनी का बिमा होना काफी जरुरी है ऐसे हालत मे  आपको बीमारी हो जाती है तो बिमा ना होने से आप आपके बचत के सारे पैसे खो सकते है। लेकिन अगर बिमा पालिसी हो तो आप इससे बिना किसी तकलीफ से बहार निकल सकते है। जीवन बिमा या फिर आरोग्य बिमा को कभी भी एक निवेश के हेतु नहीं देखना चाहिए इससे आपके परिवार को भी फायदा मिलता है तो इसके कारन बिमा प्लान होना आपके आर्थिक नियोजन का सबसे महत्बपूर्ण हिस्सा होना चाहिए। कोरोना वायरस जैसे संकट के दौरान आपको बिमा पालिसी ही बचा सकती है IRDA ने भी बिमा पालिसी मे कोरोना बीमारी का कवर देने को सभी बिमा कंपनी को सूचित किया है। 

कर्जो और बैंक हफ्ते को चुकाओ :

अगर आपके ऊपर बैंक के हफ्ते या फिर कर्जा है तो उसे जितनी जल्दी हो सकते चुकाना चाहिए। ऐसी स्तिथि मे आपके ऊपर कर्जे का बोज आपको बोहोत ज्यादा परेशानी मे दाल सकता है। 

तो इस प्रकार आपातकालीन स्तिथि मे अगर आपके पास अच्छा आर्थिक नियोजन है तो आप किसी भी प्रकार के संकट का सामना कर सकते है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ