-->

मोदी सरकार ने दी यस बैंक के पुनर्गठन को हरी झंडी SBI को मिलेगी २६ फीसदी हिस्सेदारी

मनी फाइंडर हिंदी १३ मार्च २०२० मुंबई


पिछले हफ्ते RBI ने वित्तीय स्थिरता बनके रखने के लिए  यस बैंक से ५० हजार से ज्यादा राशि निकलने पर पाबन्दी लगाई थी। उसके बाद यस बैंक के ग्राहकको मे बोहोत ज्यादा हड़बड़ी मच गयी थी इसके आलावा शेयर बाजार मे भी यस बैंक के शेयर मे भारी गिरावट देखने को मिली।





 पत्रकार परिषद् मे  वित्त मंत्री जी ने कहा की खातेदारों की सुरक्षा के हेतु और यस बैंक मे स्थिरता लाने के लिए यस बैंक पुनर्गठन का निर्णय लिया गया है। 

  • मोरेटोरियम के बाद ही RBI ने यस बैंक के पुनर्गठन का प्लान पेश किया था। 
  • आज दोपहर को मोदी कैबिनेट की बैठक  हुई जिसमे यस बैंक के पुनर्गठन को मंजूरी दी गयी। 
  • सूत्रों के अनुसार SBI यस बैंक के ४९ प्रतिशत इक्विटी शेयर मे निवेश करेगा। 
  • SBI को ३ साल के लिए २६ फीसदी की हिस्सेदारी मिलेगी। 
  • इसी समय अन्य निवेशक भी एक्विटी हिस्सेदारी ले सकते है वो भी ३ साल तक अनिवार्य है। 
  • SBI के आलावा ७ निवेशक यस बैंक मे निवेश के लिए राजी हो चुके है। 
  • इसके आलावा यस बैंक का अधिकृत कैपिटल ११०० करोड़ से बढाकर ६२०० करोड़ कर दिया है। 
  • यस बैंक के लिए नया बोर्ड ७ दीन मे गठित होगा। 
  • अब की ५० हजार लिमिट को मोरेटोरियम को  पुनर्गठन के पहले ३ दिन मे हटाया जायेगा। 
  • इसके आलावा एक्सिस बैंक यस बैंक मे ६०० करोड़ का निवेश करना चाहती है 


न्यूज़ क्रेडिट :टाइम्स नाउ 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां