-->

कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है और कैसे काम करती है पूरी जानकारी What Is Comodity Trading ?

नमस्कार क्या आपने अभी शेयर बाजार मे निवेश करना शुरू किया है या फिर शुरू करने की सोच रहे है तो आपको ऐसी बोहोत सारे चीजे है जोंका बेसिक ज्ञान होना जरुरी है। इनमेसे एक है कमोडिटी मार्किट वैसे आमतौर पर सीधे इस बाजार मे निवेश नहीं करते आप ट्रेडिंग डीमैट खाता खोलकर इक्विटी शेयर मे निवेश करते है लेकिन कमोडिटी बाजार से भी ट्रेडिंग से अच्छी रिटर्न आप कमा सकते है।



आपने बचपन मे हमारा प्राचीन इतिहास पढ़ा होगा इस समय मे लोग एक दूसरे मे अलग अलग चीजों की अदला बदली करते थे जैसे की खेती करने वाला किसी को धान देता है और उसके बदले ऐसी चीज लेता था जिसकी उसे जरुरत होती है।कमोडिटी बाजार भी ऐसा ही कुछ प्रकार का है चलिए जानते है।


    क्या है कमोडिटी बाजार ?


    जैसे हम इक्विटी बाजार मे शेयर ट्रेडिंग से पैसे कमाते है ठीक उसी तरह आप कमोडिटी बाजार मे भी पैसे कमा सकते है। इसमे आपको कमोडिटी खरीद कर उसे अच्छे समय मे उचित इनकम पर बेचना होता है। जिसमे फीचर और ऑप्शंस २ विकल्प होते है।

    कमोडिटी के अलग अलग प्रकार :


    • मेटल जिसमे सिल्वर गोल्फ प्लैटिनम और कॉपर जैस मेटाक्स शामिल है। 
    • दूसरा खेती विषय जिसमे चावल कॉर्न गेहू बीन्स जैसे खेती के उत्पाद शामिल है। 
    • ऊर्जा कमोडिटी मे नेचुरल गैस ,गैसोलीन ,आयल ,क्रूड आयल जैसे ईंधन शामिल है। 
    • लाइवस्टॉक एंड मीट के कमोडिटी मे सूअर  मॉस ,अन्य मांस पशु ऐसे कमोडिटी शमिल है। 

    कमोडिटी ट्रेडिंग के फायदे :

    • आपको कमोडिटी खाता खोलने के लिए अलग से नया खाता खोलने की जरुरत नहीं आप आपके डीमैट ट्रेडिंग खाता मे ही कमोडिटी को जोड़कर ऑनलाइन ट्रेडिंग कर सकते है। (इसके लिए इनकम प्रूफ सबमिट करना जरुरी होता है )
    • आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से कमोडिटी निवेश कर सकते है। 
    • कमोडिटी मार्किट का मूल्य पुरे दुनिया मे एक सामान होता है।
    • कमोडिटी मे निवेश करने से आपके पोर्टफोलिओ होल्डिंग मे अलग अलग तरह के स्टॉक्स आते है जिससे मार्किट के ख़राब समय से आपका आपकी होल्डिंग बैलेंस्ड रहती है। 
    • कमोडिटी निवेश आपको इन्फ्लेशन के दौर मे अच्छी रिटर्न दे सकते है। 
    • कमोडिटी मे एक सामान उचित मूल्य और कम ब्रोकरेज मूल्य मे किया जाता है। 
    • इक्विटी मार्किट के बाद कमोडिटी ट्रेडिंग भी पुरे भारत मे ट्रेडिंग निवेश किया जाता है। 
    कमोडिटी MCX मार्किट पिछले १ साल से
    सौजन्य :मोनीकंट्रोल 


    कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे काम करती है ?


    कमोडिटी मार्किट एक आम शेयर बाजार जैसा ही होता है जहा पर कमोडिटी खरीदी और उचित मूल्य पर बेचीं जाती हैं। इसमे आपको फीचर और ऑप्शंस का विकल्प होता है। इसकी काम करने की प्रणाली 

    • इसको अब सब्जी मंडी के उदहारण से भी समझ सकते है अगर प्याज की डिमांड ज्यादा है और सप्लाई कम है तो प्याज की कीमत ज्यादा होगी और अगर डिमांड कम और सप्लाई ज्यादा तो कीमत निचे गिरेगी इसी तरह से कमोडिटी बाजार मे भी होता है। 
    • जैसे शादी के सीजन मे सोने की डिमांड ज्यादा होती है ऐसे समय सोने की कीमत बढ़ जाती है। 
    • इसके  आलावा हाल ही मे ईरान टेंशन के कारन क्रूड आयल की कीमत भी बढ़ी थी। 

    कमोडिटी मे ट्रेडिंग कैसे होती है ?


    इसे उदहारण से समझते है ऐसा समझ लीजिये की आपने MCX  एक्सचेंज द्वारा ३०० ग्राम सोने का कमोडिटी को ख़रीदा है जिसका मूल्य है २  लाख और आपने इसके लिए मार्जिन लिया है १० प्रतिशत का मतलब २० हजार अब ऐसा समझ लीजिए की अगले दिन सोने की कीमत २ लाख से गिरकर १ लाख ८० हजार पर आ जाती है तो आपके २० हजार मार्जिन की राशि आपके खाते से काट ली जाएगी लेकिन अगर सोने की कीमत २ लाख से २ लाख १० हजार हो जाती है तो आपके खाते मे १० हजार ऐड किये जायेंगे। 

    भारत के कमोडिटी ट्रेडिंग बाजार :



    1. नेशनल मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज -NMCE 
    2. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज MCX 
    3. इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज ICEX 

    कमोडिटी निवेश ट्रेडिंग शुरू करने के लिए क्या करना होगा ?

    • सबसे पहले आपको किसी अक्कगे ब्रोकर के साथ कमोडिटी खाता खोलना होगा। 
    • अगर आपका पहले से इक्विटी निवेश खाता है तो आप उसी ब्रोकर से कमोडिटी खाता खोल सकते है उसके लिए आपको सिर्फ इनकम प्रूफ दस्तवेज देना होगा। 
    • खाता चालू होने  के बाद आपको उस स्टॉक ब्रोकर  के कमोडिटी प्लेटफार्म से लोग इन करना है। 
    • ट्रेडिंग शुरू करने के पहले आपको आपके ट्रेडिंग खाते मे मार्जिन की राशि ऐड करनी होगी। 
    • उसके बाद आप ४ मे किसी भी एक्सचेंज मे आपके तय किये किये गए कमोडिटी मे ट्रेडिंग शुरू कर सकते है। 
    • कमोडिटी आर्डर प्लेस करने के पहले बाजार का हाल और बाकि जानकारी रखनी चाहिए जिससे आप संभावित नुकसान से बच सकते है। 
    • कमोडिटी चुनने के बाद आर्डर प्लेस करनी है और उसी दिन उस कमोडिटी की आखिरी  कीमत आर्डर कीमत देखि जाएगी कम या फिर ज्यादा होने पर आपको जो लाभ होगा आपके खाते मे दिया जायेगा इसके आलावा नुकसान होने पर आपके मार्जिन राशि से लिया जायेगा। 
    • इसके आलावा आप दिन के समाप्ति पर उस कमोडिटी की डेलिवेरी लेकर भी आर्डर समाप्त कर सकते है। 
    कमोडिटी ट्रेडिंग करने मे क्या रिस्क है ?

    • कमोडिटी बाजार मे अगर दुनिया के किसी भी देश मे कुछ हलचल होती है तो बाजार गिर जाता है जैसे की अमेरिका मे सत्ता बदल ,चीन का कोरोना वायरस ऐसे समय कमोडिटी की कीमत बोहोत ज्यादा गिर जाती है जिससे आपको नुकसान हो सकते है। 
    • कोई बड़े ट्रेडर या फिर इन्वेस्टमेंट हाउस किसी एक कमोडिटी की लक्ष्य बनाकर उसमे हलचन पैदा करते है जिससे कमोडिटी की अचानक ऊपर जाती है फिर निचे भी खिसकारी है ऐसे मे छोटे निवेशक को नुकसान हो सकता है। 
    • कमोडिटी ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास शेयर बाजार का अच्छा ज्ञान होना आबशयक है इसके आलावा आपको इसमे बोहोत ज्यादा राशि लगनी होई है इक्विटी बाजार जैसे कम पैसो मे आप निवेश नहीं कर सकते। 
    कमोडिटी ट्रेडिंग अच्छी रिटर्न कमाने का एक बढ़िया मार्ग है लेकिन इसके लिए आपको कमोडिटी मार्किट के सभी टर्म्स को अच्छे से समझाना होगा आप इसके लिए सेमिनार कोर्स भी ज्वाइन कर सकते है। इसमे रिस्क होती है लेकिन अगर आप अच्छे से कमोडिटी ट्रेडिंग सिख जाते है तो आप अच्छी कमाई कर सकते है। 

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां