-->

ये 5 निवेश विकल्प आपके रिटायरमेंट प्लानिंग को बना सकते है बेहतर

Last Updated :08:20 AM 

मुंबई :रिटायरमेंट के बाद आराम से ज़िन्दगी बिताना हर आदमी का सपना होता है। रिटायरमेंट का मतलब जॉब ख़तम आमदनी बंद ऐसे मे हर महीने की इनकम बोहोत जरुरी है। इसके लिए रिटायरमेंट के पहले ही निवेश करना चाहिए। अगर आप आपके जॉब के समय अच्छे तरह से निवेश करेंगे तो आप रिटायरमेंट के लिए इनकम का जरिये बनाकर रख सकते है। इससे आपको टैक्स बचाने मे भी मदत होती है। जब आप रिटायरमेंट के लिए निवेश की सोचते है तब कम और ज्यादा दोनों रिस्क वाले निवेश मे निवेश करना चाहिए। लेकिन सबसे ज्यादा जरुरी है की कौनसे निवेश विकल्प सबसे बेहतर बन सकते है। चलिए जानते है उन निवेश विकल्प के बारे मे विस्तार से।



    १ पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम योजना :

    • आप पोस्ट ऑफिस के ऐसे योजना मे निवेश कर सकते है जो की आपको हर महीने इनकम दे सकते है।
    • इस निवेश के मे रिस्क बोहोत कम है मतलब आपका निवेश बोहोत सुरक्षितम माना जा सकता है। 
    • इस निवेश का टेन्योर ५ साल का है मतलब 5 साल बाद आप निवेश की राशि निकल सकते है या फिर से निवेश कर सकते है। 
    • आप १५०० रुपये के निवेश से इस योजना मे निवेश शुरू कर सकते है। 
    • रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए अच्छा विकल्प है क्यों की आपको इसमे अच्छे ब्याजदर से रिटर्न की गारंटी मिलती है। 
    • हलाकि  इसमे मिलने वाले ब्याज पर आपको टैक्स देना पड़ता है। 
    • ब्याज सीधे आपके बैंक खाते मे ट्रांसफर किया जाता है। 
    • आप 4.5 लाख तक की राशि इस योजना मे निवेश कर सकते है। 
    • आप आपके ब्याज को इस  योजना मे फिर से निवेश कर सकते है। 
    • आप आपके 18 साल के आयु से निवेश की शुरवात करेंगे तो आप इस योजना के सहारे रिटायरमेंट लाइफ के लिए अच्छी पूंजी जमा कर सकते है और हर महीने की इनकम पा सकते है।  

    २  सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम :(SCSS )

    • अगर आप रिटायरमेंट की प्लानिंग कर रहे है तो इस योजना के तहत निवेश करने से  आपको बोहोत ज्यादा फायदा होगा। 
    • नाम के तरह ये योजना सिर्फ वरिष्ठ नागरिको के लिए है जिसमे ६० साल से ज्यादा उम्र पर निवेश किया जा सकता है। 
    • आप इस योजना मे 15 लाख तक की राशि निवेश कर सकते है। 
    • खाता खोलते वक़्त शुरवात मे आपको कम से कम १ लाख डिपाजिट करना पड़ता है। 
    • एक सरकारी निवेश योजना  होने के कारन ये सबसे सुरक्षित योजना मानी जाती है। 
    • आप बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस मे जाकर आसानी से खाता खोल सकते है। 
    • सभी योजनाओ सबसे ज्यादा 8.6 फीसदी ब्याजदर आपको इस SCSS मे मिलता है। 
    • इसके आलावा सेक्शन 80 C के तहत १ लाख ५० हजार की राशि मे टैक्स छूट भी शामिल। 
    • इस निवेश योजना का टेन्योर ५ साल का होता है आप इसे ३ साल और बढ़ा सकते है। 

    ३  बैंक फिक्स्ड डिपाजिट स्कीम :

    • बोहोत सारे लोग खुद के रिटायरमेंट के लिए बैंक FD द्वारा निवेश करना पसंद करते है। 
    • यह सुरक्षित और फिक्स्ड रिटर्न का सबसे बढ़िया जरिया माना जा सकता है। 
    • फिक्स्ड डिपाजिट पर आपको ५ लाख का बिमा कवर भी मिलता है। 
    • आप इस निवेश के सहारे १ लाख ५० हजार तक की राशि के ऊपर 80 C के तहत टैक्स छूट पा सकते है। 
    • रिटायरमेंट की प्लानिंग कर रहे वरिष्ठ नागरिक के लिए साधारण से ज्यादा ब्याज दर से ब्याज मिलता है। 
    • वही साधारण बैंक ब्याज दर 7.25 फीसदी  का है। 
    • आप ५ साल के लिए FD कर सकते है और ५ साल के बाद फिर से उस राशि को निवेश कर सकते है। 
    • इस योजना मे निवेश करना काफी आसान है कोई भी व्यक्ति आसानी से FD कर सकता है। 
    • हलाकि आपके ब्याज के राशि पर आपको टैक्स देना पड़ता है। 
    • कुल मिलकर बैंक फिक्स्ड डिपाजिट के जरिये रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए निवेश करना एक अच्छा विकल्प माना जा सकता है। 

    ४  म्यूच्यूअल फण्ड निवेश :

    • ऊपर के तीनो विकल्प मे कम रिस्क है लेकिन जिस तरह मंहगाई बढ़ती है उसके सामने आपके इनकम की राशि कम दिखाई देती है। 
    • लेकिन अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश करते है तो थोड़ी सी ज्यादा रिस्क पर एक अच्छी इनकम आप कर सकते है। 
    • आप म्यूच्यूअल फण्ड मे SIP कर सकते है जो की एकमुश्त राशि निवेश करने से बेहतर साबित हो सकता है। 
    • म्यूच्यूअल फण्ड मे आप खुद की रिस्क चुन सकती है सबसे ज्यादा रिस्क इक्विटी लिंक्ड फण्ड मे होती है। 
    • अगर आप रिटायरमेंट के प्लानिंग के लिए म्यूच्यूअल फण्ड निवेश कर रहे है तो ऐसे फण्ड चुने जो आपको रेगुलर इनकम दे सके ज्यादा सक्रिय फण्ड लेने से बचे। 
    • मुटुल फण्ड मे आपको निवेश के लिए अलग अलग विकल्प मिलते है जिनसे आप निवेश कर सकते है। 
    • कई म्यूच्यूअल फण्ड मे आप जरुरत के समय पैसे निकल भी सकते है। 
    • रिटायरमेंट के लिए म्यूच्यूअल फण्ड कितना सही है ये आपके निवेश के रिस्क प्रोफाइल पर निर्भर करता है। 
    उपयोगी लेख :

    ५  एन्युटी स्कीम :

    • एन्युटी आपके रिटायरमेंट प्लानिंग के निवेश मे जान डाल सकता है। 
    • एन्युटी के माध्यम से आपको नियमित मासिक पेंशन मिलती है। 
    • बैंक के माधयम से वार्षिकी योजना मे आप आपके परिवार के सद्य्स को भी शामिल कर सकते है। 
    • एक मुश्त राशि से वार्षिकी योजना मे किया जा सकता है निवेश। 
    • जारी करने के दिन से आपको आपको फिक्स एन्युटी मिलती है। 
    • आप बैंक के द्वारे या फिर इन्शुरन्स कंपनी के साथ एन्युटी प्लान ले सकते है। 
    • आपको एन्युटी मे अलग अलग प्लान्स मिलेंगे आप जरुरत के हिसाब से प्लान चुन सकते है। 
    • आप एकमुश्त या फिर किश्तों पर भी भुगतान कर सकते है। 
    • इसके आलावा आप एन्युटी  की पेंशन राशि सालाना महीना आप के हिसाब से चुन सकते है। 
    • तो रिटायरमेंट प्लानिंग मे एन्युटी का विकल्प भी आपके सेवा निर्वुत्त जीवन को आसान बना सकता है। 

    रिटायरमेंट निवेश को सबसे प्रभावशाली बनाने के लिए सभी निवेश प्रकारो मे अलग अलग से निवेश करना फायदेमंद हो सकता है। जिससे आपका निवेश होल्डिंग तैयार हो सकती है और आपको बेहतर इनकम बनाने मे मदत मिल सकती है। 

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां