-->

सरकार ने FDI के नियमो मे किया बड़ा बदलाव अब सरकार के मंजूरी बिना निवेश संभव नह

Last Updated :10:20 AM 


मुंबई :भारत मे कोरोना महामारी के मामले बढ़ रहे है इसके चलते अब लॉक डाउन भी बढ़ा दिया गया है इसके सीधा असर देश की अर्थव्यवस्था पर पद रहा है। इसके कारन देश की बड़ी बड़ी कंपनी मंदी के कारन शेयर बाजार मे गिरावट देखने को मिल रही है। और इसका फायदा उठाने के लिए चीन देश के बड़े बड़े कंपनी मे अपना निवेश बढ़ा रहा है। इसका ताज़ा उदहारण HDFC बैंक की कंपनी है जिसमे चीन के सेंट्रल बैंक के १ फीसदी से ज्यादा की हिस्से दारी। चीन की तरफ से इस तरह दूसरे देश के कंपनी मे हिस्सेदारी बढाकर उनकर कण्ट्रोल करने का प्लान बना रहा है। इस बात को सामने रखते हुए केंद्र सरकार ने देश के सिमा से सटे देशो के लिए FDI के नियमो बदलाव किया है। 

वर्ल्ड बैंक ने दिए संकेत दुनिया बड़े मंदी के और :

  • इसी बिच वर्ल्ड बैंक और IMF ने साफ़ किया है की कोरोना महामारी के कारन बड़ी मंदी आ सकती। है 
  • ऐसे मे बड़ी कंपनियों के शेयर मे और गिरावट हो सकती है जिससे उन्हें खरीदना आसान होगा। 
  • जाहिर है अगले कुछ समय मे चीन जैसे देश इस चढ़ते माहौल मे बड़े कंपनी के शेयर खरीद कर हिस्सेदारी बढ़ा सकते है। 

सही समय पर सरकार ने बदले FDI के नियम :

  • भारत सरकार इस तरह की विदेशो कम्पनीओ की भारत मे बढ़ती हिस्सेदारी रोकने के लिए नियमो मे बड़ा बदलाब किया। 
  • अभी सीधे विदेशो निवेश के लिए सिमा से सटे पडोसी किसी भी देश को भारत सरकार से अधिकृत मंजूरी लेना अनिवार्य किया है। 
  • इसका मतलब चीन या कोई अन्य देश की कंपनी अब निवेश के लिए भारत सरकार से मंजूरी मिलने के बाद ही निवेश कर सकती है। 
  • HDFC बैंक के चीन के हिस्सेदारी के बाद निवेश और बढ़ने की आंशका थी जानकारों की माने तो भारत ने सही समय पर एक अच्छा निर्णय लिया है ऐसा माना जा रहा है। 
  • राहुल गाँधी ने भी नियमो मे बदलाव की सराहना की उन्होंने ट्वीट के जरिये कहा की सरकार ने मेरी बात मानी इसके लिए उनका शुक्रिया करना चाहता हु ऐसे समय FDI नियमो मे बदलाव एक सही निर्णय है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां