-->

SBI वार्षिकी योजना मे एक बार जमा करे पैसा फिर होगी हर महीने कमाई

भारतीय स्टेट बैंक SBI सरकारी बैंक होने के कारन आप बोहोत सारी सरकारी योजवानो का लाभ आप ले सकते है। इसमे ऐसी योजनाए होती है जिससे आम आदमी को अपने भविष्य को सुरक्षित करने मे काफी फायदा होता है। SBI वार्षिकी योजना लम्बे समय के निवेश के लिए अच्छा विकल्प है। आप एक बार एकमुश्त निवेश करने के बाद आपको हर महीने एक निश्चित राशि पेंशन के रूप मे मिलती रहती है। रिटायरमेंट के लिए भी या विकल्प काफी अच्छा है तो चलिए जानते है इस वार्षिकी प्लान की पूरी जानकारी।


    क्या है SBI वार्षिकी जमा योजना :(What Is SBI Annuity Scheme)

    SBI वार्षिकी जमा योजना एक ऐसी ऐसी योजना है जहा पर आपको बैंक मे एक मुश्त राशि जमा करने के बाद मचोरिटी के बाद हर महीने एक निश्चित राशि इनकम के तौर पर पा सकते है। यह पेंशन जैसा ही है जिसे आप हर महीने ,तिमाही ,छमाही ,वार्षिक मे ले सकते है। आपके जमा राशि पर आपको ब्याज मिलता है और उस सभी राशि को सामान किश्तों मे बाट दिया जाता है जो आपको हर महीने दिया जाता है। हर महीने मिलने वाले राशि मे आपकी मूल राशि और ब्याज का हिस्सा होता है।

    SBI वार्षिकी जमा योजना की विशेष बातें :(Features Of SBI Annuity Deposit Scheme)

    • वार्षिकी जमा योजना मे निवेश शुरू करने के लिए आपको कम से कम २५ हजार रुपये की राशि निवेश करनी होगी। 
    • आप ज्यादा से ज्यादा कितनी भी राशि जमा कर सकते है। 
    • आप इस योजना मे ३ साल ,५ साल,७ साल और १० साल मे मचोरिटी समय चुन सकते है। 
    • इस योजना को भारत के किसी भी SBI शाखा से ले सकते है। 
    • हर महीने कि कम से कम वार्षिकी १ हजार रुपये हो सकती है। 
    • SBI वार्षिकी जमा योजना की ब्याज दर FD जैसी ही होती है जैसे हाल के दर 6.25 फीसदी है। 
    • SBI स्टाफ एव SBI पेंशनधारकको के लिए नियमित ब्याजदर के १ फीसदी से ज्यादा ब्याज मिलता है। 
    • इसके आलावा वरिष्ठ नागरिको के लिए नियमित ब्याजदर के 0.50 फीसदी ज्यादा ब्याज मिलेगा। 
    • एन्युटी का भुगतान डिपाजिट जमा करने के १ साल बाद उसी महीने मे किया जायेगा। 
    • वही वार्षिकी की राशि सीधे आपके लिंक्ड बैंक खाते मे दी जाएगी। 
    • आप इस योजना के लिए नॉमिनी का चयन कर सकते है। 
    • आप इस योजना पर लोन ले सकते है आपके शेष जमा राशि के  75 फीसदी राशि तक आप ओवरड्राफ्ट सेवा ले सकते है। 
    • लोन लेने के बाद आपका शेष वार्षिकी पेमेंट आपके लोन अकाउंट मे किया जाएगा। 
    • SBI वार्षिकी जमा योजना के लिए आपको एक विशेष पासबुक दिया जाता है। 
    • आप एक SBI शाखा से दूसरी शाखा मे खाता ट्रांसफर करवा सकते है। 

    SBI वार्षिकी योजना की पात्रता :(Eligibility Of SBI Annuity Deposit Scheme) 

    • SBI वार्षिकी योजना के लिए सबसे पहले आप भारत के नागरिक होना जरुरी। 
    • आपका SBI मे बैंक खाता होना जरुरी। 
    • आपका सिंगल या फिर जॉइंट होल्डर खाता चालू कर सकते है। 

    SBI वार्षिकी योजना मे खाता खोलने की प्रोसेस :(SBI Annuity Deposit Scheme Account Opening )

    १ ऑफलाइन ब्रांच मे जाकर :

    • सबसे पहले आपको नजदीकी SBI के शाखा मे जरुरी दस्तावेज के साथ जाना है। 
    • उसके बाद वार्षिकी योजना खाता खोलने का फॉर्म लेकर उसे भरना है। 
    • आप बैंक FD जैसी ही इस सभी प्रोसेस को पूरा कर सकते है। 
    • जरूरी दस्तऐवजों के साथ फॉर्म सबमिट कर देना है। 
    • आप एकमुश्त जमा राशि पेमेंट कॅश या फिर चेक के माधयम से कर सकते है। 
    • सभी प्रोसेस पूरी होने के बाद आपका वार्षिकी जमा खाता २ दिन मे चालू हो जायेगा। 
    • आपको उसके बाद एक अलग पासबुक भी दिया जायेगा। 
    • SBI बचत खाता होने पर आपको ज्यादा दस्तावेज नहीं देने पड़ेंगे। 
    • लेकिन SBI बचत खाता नहीं है तो आपको नया खाता खोलना पड़ सकता है। 

    २ ऑनलाइन SBI नेट बैंकिंग के जरिये :

    • इसके लिए सबसे पहले आपको SBI नेट बैंकिंग मे लोग इन करना पड़ेगा। 
    • उसके बाद इ सर्विसेज के विकल्प पर क्लिक करना है। 
    • वह पर आपको वार्षिकी जमा योजना पर क्लिक  करना है। 
    • उसके बाद कुछ जानकारी आपको भरनी है आपके बैंक खाते से आधी जानकारी डिफ़ॉल्ट भरी जाएगी। 
    • उसके बाद आपको जमा राशि डालकर उतनी राशि इस योजना के तहत डिपाजिट करनी है। 
    • आपका वार्षिकी योजना खाता उसी दिन चालू हो जायेगा और आपको पासबुक समेत सारी सेवाय दी जाएगी। 
    • इसके आलावा आपको वार्षिकी की राशि भी इसी खाते पर ट्रांसफर की जाएगी। 

    SBI वार्षिकी जमा योजना मचोरिटी के पहले बंद करने की स्तिथि :(SBI Annuity Deposit Scheme Premachority Close )

    • SBI इस योजना मे आमतौर पर मचोरिटी के पहले खाता बंद नहीं करने देता।
    • लेकिन अगर खातेधारक जमाकर्ता की मौत होने पर खाता मचोरिटी के  पहले बंद किया जा सकता है। 
    • दूसरे स्तिथि मे अगर आपका वार्षिकी जमा डिपाजिट १५ लाख से ज्यादा है तो आप मचोरिटी के पहले राशि निकल सकते है खाता बंद कर सकते है। 
    • टर्म डिपाजिट के नियमो के अनुसार मचोरिटी के पहले राशि को निकलने पर आपको पेनल्टी शुल्क देना पड सकता है। 

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां