-->

सोने मे निवेश का शानदार मौका घर बैठे ख़रीदे सोना २० अप्रैल से शुरू होगी सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१

भारत सरकार ने  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१ स्कीम का एलान किया है। आप इस योजना मे ६ किश्तों मे  निवेश कर सकते है। RBI की  तरफ से इस योजना को शुरू किया जायेगा।  इस योजना को आप २० से लेकर २४ अप्रैल तक ले सकते है। ६ किश्तों मे होने वाली स्किम का आखिरी किश्त ३१ से ऑगस्ट से ४ सितम्बर के बिच मे कटेगा। चलिए जानते है इस बारे मे पूरी जानकारी। आप अधिकृत सुचना को यहाँ से पढ़ सकते है। RBI नोटोफिकशन  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१





     सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१  की विशेष बातें :

    •  सॉवरेन गोल्ड बांड ८ साल के टेन्योर के लिए होते है। 
    • खरीदने के बाद आपको ८ साल तक होल्ड करना पड़ता है उसके बाद मचोरिटी के बाद उसे बेच सकते है। 
    • इससे पहले आप बाजार मे बेच सकते है या फिर ७ साल बाद रिडीम भी कर सकते है। 
    • एक भारतीय नागरिक ,हिन्दू अविभाजित परिवार ,ट्रस्ट ,यूनिवर्सिटी ,चैरिटेबल संस्था इस बांड को खरीद सकती है। 
    • NRI इस योजना मे निवेश नहीं कर सकते। 
    • आपको इस योजना मे कम से कम १ ग्राम का सोना खरीदना पड़ेगा। 
    • और १ आदमी ज्यादा से ज्यादा ४ किलो सोना खरीद सकता है। (१ वित्तीयवर्ष  मे ) 
    • ट्रस्ट संस्था २० किलो तक  सॉवरेन गोल्ड ले सकती है। 
    • सबसे जरुरी बात इस गोल्ड बांड पर आपको २.५० फीसदी का ब्याजदर मिलेगा।
    • ब्याज आपको आपके निवेश की कीमत पर मिलेगा जो सीधे आपके बैंक खाते मे जमा कर दिया जायेगा।
    • गोल्ड बांड की खरीद कीमत ९९९ कैरट शुद्ध सोने की आखिर ३ दिन के कीमत जितनी होगी लेकिन ५० रुपये प्रति ग्राम तक ही होगी। 
    • आप गोल्ड बांड ऑनलाइन खरीद सकते है और ऑनलाइन पैसे भर सकते है। 
    • UPI के जरिये आप २० हजार तक के गोल्ड बांड खरीद सकते है। आप डिमांड ड्राफ्ट चेक ,नेट बैंकिंग के जरिये पेमेंट कर सकते है। 
    • गोल्ड बांड्स आपको भारतीय सरकार के GS एक्ट २००६ के तहत मिलते है। आपको बांड खरीदने के बाद होल्डिंग सर्टिफिकेट दिया जाता है। ये होल्डिंग डीमैट खाते मे भी आप ले सकते है  देख सकते है। 
    • आप   सॉवरेन गोल्ड बांड आपके बैंक खाता द्वारा खरीद सकते है पोस्ट ऑफिस ,स्टॉक एक्सचेंज ,NSE ,BSE ,इसके आलावा आप एजेंट के द्वारा भी इस स्कीम मे निवेश कर सकते है। 
    •  सॉवरेन गोल्ड बांड ५ साल के बाद रिडीम कर सकते है इसका मतलब आप छटे ,७ वे  साल मे रिडीम कर सकते है इसके आलावा आप इसे कभी भी शेयर बाजार मे बेच भी सकते है। 
    • इसके लिए RBI अलग से एक अधिसूचना जारी करेगा की आप बांड को कब शेयर बाजार के जरिये बेच सकते है। ७ वे साल मे रिडीम करने के लिए किसी सुचना की जरुरत नहीं पड़ती। 
    • जब आप बांड को रिडीम करेंगे तो आपको पिछले हफ्ते के ९९९ शुद्धतता वाले सोने के कीमत पर पैसे मिलेंगे। 
    • आप फॉर्म D के माधयम से आपके  सॉवरेन गोल्ड बांड निवेश को नॉमिनी रख सकते है। (FORM D )
    • फॉर्म के जरिये आप नॉमिनी का नाम मे बदल कर सकते है। (Forn  E )
    • आप सिक्योरिटीज एक्ट २००६ और २००७ के तहत फॉर्म F के जरिये  सॉवरेन गोल्ड बांड को ट्रांसफर कर सकते है। (Form F )
    • आप इन बांड का इस्तेमाल लोन लेने के लिए भी कर सकते है ,जैसे आप साधारण सोना गिरवी रख के लोन लेते है ठीक उसी प्रकार आप  सॉवरेन गोल्ड बांड को गिरवी रखकर लोन ले सकते है। 
     सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१ टाइम टेबल :


    केस काम करता है  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम ?

    •  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम सरकार की तरफ से सबसे पहले सुचना जारी की जाती है की आप गोल्ड बांड को खरीद सकते है। 
    • उसके बाद आपका बैंक खाता जिस बैंक मे है वो बैंक भी आपको इस बात की जानकारी देती है। 
    • स्टॉक ब्रोकर भी इस योजना के बारे मे क्लाइंट को बताते है। 
    • अगर आपको निवेश करना है तो आप खरीद लेते है। आप इसे ८ साल के निवेश हेतु खरीद लेते है। 
    • उसके बाद आपको ८ साल के मचोरिटी समय तक हर साल २.५ फीसदी सालाना ब्याज मिलता है। 
    • बाद मे RBI नोटिफिकेशन के जरिये बताती है की आप शेयर बाजार मे बांड बेच सकते है ,तब अगर आप इसे कभी भी शेयर बाजार मे बेच सकते है। 
    • अगर आप रिडीम करना चाहते है तो आप ६ या फिर ७ वे साल मे गोल्ड बांड को रिडीम कर सकते है। 
    • अगर आपने ८ साल तक गोल्ड बांड को नहीं बेचा या फिर रिडीम किया तो मचोर हो जायेगा तो आपके बांड के  उस समय के कीमत अनुसार आपको पैसे मिल जायेंगे। 
    • इस दौरान ८ साल का ब्याज हर ६ महीने मे आपके बैंक खाते मे जायेगा। 

     सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम के फायदे :

    • अगर आपको  सोना लेना है या फिर सोने मे निवेश करना है तो  सॉवरेन गोल्ड बांड एक सबसे अच्छा विकल्प है क्यों की जब आप ज्यादा सोना लेते है तब उसे सुरक्षित करना कठिन काम होता है ,इसके आलावा इसके आलावा आप गोल्ड ETF या फिर गोल्ड फण्ड मे भी निवेश कर सकते जहा सोना कही रखने की जरीरत नहीं पड़ती लेकिन आपको ETF और गोल्फ फण्ड के लिए जरुरी शुल्क देना पड़ता है इसके आलावा डीमैट खाता भी होना जरुरी होता है जिसका शुल्क अलग होता है। ऐसे मे गोल्ड बांड मे निवेश आपके सोने के निवेश को सही तरह से पूरा कर सकता है। 
    • जब आप फिजिकल सोना खरदीते है तब आपको कोई सोने पर ब्याज नहीं देता है लेकिन  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम एक ऐसा निवेश है जहा पर ये सोने जैसे ही है और आपको सालाना ब्याज भी देता है। 
    • इसका सबसे बड़ा फायदा आपके निवेश पर भारत सरकार की  सॉवरेन गारंटी आपको मिलती है जिससे आपका निवेश एकदम सुरक्षित होता है। 
    •  सॉवरेन गोल्ड बांड पर आपको किसी भी तरह का TDS नहीं लगता है। 
    • फिजिकल सोना खरीदने के बाद उसपर GST देनी पड़ती है लेकिन  सॉवरेन गोल्ड बांड पर किसी भी तरह का GST टैक्स नहीं लगता है। 
    • आपको २ तरह के फायदे मिलते है १ निवेश पर सालाना ब्याज २ हर दिन बांड की कीमत सोने के कीमत जैसे बढ़ती है। 

     सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम २०२०-२१ टैक्स शुल्क :

    • आपको ब्याज पर मिलने वाली इनकम  टैक्सेबल है जो की २.२५ फीसदी है यहाँ पर आप १० फीसदी के टैक्स ब्रैकेट से है तो आपको कोई टैक्स नहीं लगेगा। लेकिन उसके बाद के टैक्स ब्रैकेट के लिए आपको ब्याज के इनकम पर टैक्स शुल्क देना पड़ेगा। 
    • अगर आप  सॉवरेन गोल्ड बांड को शेयर बाजार मे बेचते है और अगर आपको प्रॉफिट हो जाता है तो उसे कैपिटल गेन कहा जायेगा जिसके ऊपर आपको टैक्स देना पड़ेगा। ऐसे सोच लीजिये की आपने ३ साल के पहले बांड को बेच दिया तो आपको आपके टैक्स स्लैब के अनुसार कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ेगा। 
    • वही गोल्ड बांड लेने के ३ साल बाद आप उसे शेयर बाजार मे बेचते है तो आपको २० फीसदी का फिक्स कैपिटल गेन टैक्स भरना पड़ेगा। 
    • ५ साल के मचोरिटी के बाद जब आप ६  ७ वे या फिर ८ वे साल मे गोल्ड बांड को रिडीम करेंगे तब आपके इस कैपिटल गेन पर आपको कोई भी टैक्स नहीं देना पड़ेगा। यह सिर्फ मचोरिटी समय ही हो सकता है। 

    इन बातो का भी रक्खे ध्यान :

    •  सॉवरेन गोल्ड बांड एक ऐसा निवेश है जहा शेयर बाजार जैसी ही हलचल होती है कभी ऊपर कभी निचे लेकिन ८ साल बाद के रिटर्न की बाद करे आपको इसमे साधारण FD जैसी ही रिटर्न मिलती है इस कारन आप ८ साल मे इससे ज्यादा रिटर्न अलग निवेश से आसानी से कमा सकते है। 
    • हलाकि भारत सरकार आपके निवेश की  सॉवरेन गारंटी देता है लेकिन सोने की कीमत का क्या पता कब निचे चली जाए इसपर तो सरकार गारंटी नहीं दे सकती है। आपको सिर्फ २.५ फीसदी का ब्याज मिलता रहेगा लेकिन अगर मचोरिटी समय सोने की कीमत कम है तो वही कीमत आपको मिलेगी। 
    • सबसे जरुरी बात आपको मिलने वाला २.५ का फीसदी का ब्याज आपके खरीद की कीमत पर मिलता है जैसे की अगर आपने बांड ५५०० पर ख़रीदा है तो उसपर ब्याज मिलेगा। २ साल बाद उसी बांड की कीमत ७ हजार भी क्यों ना हो आपको ब्याज आपके ५५०० के मूल कीमत पर ही मिलेगा। 
    • इसका मतलन आपके निवेश राशि के कीमत पर ही आपको ब्याज मिलेगा है लेकिन आपके निवेश की कीमत बढ़ती रहेगी जो आपको मचोरिटी के समय मिलेगी।
    • आप ५ साल पहले  सॉवरेन गोल्ड बांड को रिडीम नहीं कर सकते इसके लिए आपको ५ साल इंतजार करना पड़ेगा। आप इसके पहले सेकेंडरी मार्किट मे बेच सकते है लेकिन कैपिटल गेन टैक्स के बजह आपको नुकसान हो सकता है। 

    मचोरिटी के बाद  सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम को रिडीम करने की प्रक्रिया :

    • आपका  सॉवरेन गोल्ड बांड ८ साल के बाद मचोर हो जायेगा। 
    • ऐसे समय आपको मचोरिटी के १ महीना पहले इस बात की जानकारी दी जाएगी 
    • उसके बाद ८ साल पुरे होने के बाद आपका ब्याज और आपकी बांड की कीमत की राशि आपके खाते मे डाली जाएगी। 
    • यहाँ पर अगर कोई बैंक खाता नंबर या कोई अन्य बदलाव हो तो उसे बताना जरुरी है। 

    ८ साल पहले  सॉवरेन गोल्ड बांड को रिडीम करने की प्रक्रिया :

    • आप ८ साल के मचोरिटी के पहले छटे और सातवे साल मे बांड की रिडीम कर सकते है। 
    • इसके लिए आपको आपके बैंक ,पोस्ट ऑफिस, एजेंट जहा से आपने निवेश शुरू किया है ३० दिन पहले बताना होगा। 
    • ध्यान रहे आपको इस बात की जानकारी कूपन पेमेंट के पहले बताना जरुरी है। 
    • उसके बाद आपके बैंक ,पोस्ट ऑफिस के जरिये  बांड की कीमत की राशि आपके बैंक खाते मे दी जाएगी।
    इसके आलावा आप मचोरिटी समय  ५ साल के पहले सेकेंडरी मार्किट मे गोल्ड बांड को बेच सकते है लेकिन इसके लिए डीमैट खाता होना जरुरी है। 


     सॉवरेन गोल्ड बांड स्कीम ग्राहक सेवा :

    • सबसे पहले आपने  जहा से  सॉवरेन गोल्ड बांड को लिया है आपको उन की तरफ से ग्राहक सेवा मिलेगी जहा पर आप कंप्लेंट और जानकारी प्राप्त कर सकते है। जैसे बैंक्स ,पोस्ट ऑफिस ,एजेंट 
    • आप यहाँ से ही आपके सारे सवाल या फिर कोई सेवा समन्धि जानकारी ले सकते है। 
    • इसके आलावा अगर आपका इस तरह से कोई समाधान नहीं होता है तो आप सीधे RBI के ग्राहक सेवा मंच से कांटेक्ट कर सकते है। 
    • RBI मेल आय डी :sgb@rbi.org,in

    क्या करना चाहिए निवेश 

    • मेरे ख्याल से आपको आपके निवेश की जरुरत को समझाना चाहिए इससे आपको निर्णय लेने मे आसानी हो सकते है। आप सबसे पहले फायदे के बारे मे सोच सकते है आपका प्राथमिक उद्देश्य सोना मे निवेश करना है तो  सॉवरेन गोल्ड बांड जितना अच्छा विकल्प नहीं होना चाहिए फिर भी मुझे लगता है की आपको इसके नुकसान को भी एक बार देखना चाहिए इससे आप बोहोत आसानी से निवेश करना चाहिए या नहीं सोच सकते है। आपको  सॉवरेन गोल्ड बांड निवेश को एक एसेट के तौर पर देखना चाहिए अगर आपका उद्देश्य ज्यादा रिस्क लेकर एक अच्छी रिटर्न कामना है तो आप म्यूच्यूअल फण्ड ETF ,या फिर सीधे  शेयर बाजार इक्विटी मे भी निवेश कर सकते है। 


    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां