-->

कोरोना संकट :भारत का बेरोजगारी दर बढ़ा इस महीने मे 27 फीसदी ज्यादा -CMIE

Last Updated :08:08 AM

मुंबई :CMIE सेण्टर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी ने अपने ट्विटर हैंडल की जरिये इस बात की जानकारी दी है की कोरोना महामारी और देश व्यापी लॉक डाउन के चलते देश का बेरोजगारी दर इस महीने के पहले हफ्ते तक 27 फीसदी तक बढ़ चूका है CMIE ने एक तस्वीर जारी की है छोटे कामगारों के बेरोजगारी काफी बढ़ गयी है यह आंकड़े अप्रैल के है। मार्च मे लॉक डाउन शुरू होने के बाद बेरोजगारी के दर बढ़ने लगा है और मई के पहले हफ्ते मे सर्वाधिक रहा है। CMIE के आगे बताया की लॉक डाउन आगे बढ़ने से इसमे और बढ़ोतरी होने की आंशका है।

मुंबई जैसे बड़े शहरों से मजदुर सीधे अपने गांव भाग रहे है इससे मजदूरों के बैरोजगारी काफी ज्यादा बढ़ गयी है सबसे ज्यादा बेरोजगारी दर इन्ही शहरों का है क्यों की इन्ही शहरों से कोरोना संक्रमण ज्यादा है और रेड जोन भी जो की पूरी तरह से बंद है।

इस बारे मे CMIE ने कहा की अप्रैल मे  सर्वाधिक बेरोजगारी पांडुचेरी मे 75 फीसदी रही। तमिलनाडु मे 49 [फीसदी झारखण्ड 47 फीसदी, बिहार 46 फीसदी रही। महाराष्ट्र मे बेरोजगारी दर 20 फीसदी और कर्णाटक २९ फीसदी रहा। उत्तराखंड राज्य का बेरोजगारी दर 2 फीसद है। लॉक डाउन अगर और बढ़ता है तो इन आंकड़ों मे और बढ़ोतरी हो सकती है।

इस संकट से लड़ने के लिए सरकार १.70 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का एलान कुया है जिससे गरीब लोगो के भोजन और इनकम का ख्याल रक्खा जा रहा जाओ।

मई  के अंत तक इन बेरोजगारी आंकड़े मे 40 फीसदी तक पहुंचने की संभावना है  हलाकि देश भर मे ग्रीन और ऑरेंज जोन मे उद्योग चालू होने से इससे राहत मिल सकती है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां