-->

बढ़ रहा है भारत का विदेशी मुद्रा भंडार पहली बार 500 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर पंहुचा

Last Updated :09:42 AM 

मुंबई :RBI ने बिदेशी मुद्रा भंडार समन्धि जानकारी दी है जिसके अनुसार देश का विदेशी मुद्रा भंड़ार 500 अरब डॉलर पार कर चूका है। और यह पहिली बार हुआ है। जानकारी के मुताबिक 5 जून को सम्पत हुए हफ्ते मे 8.22 अरब डॉलर से बढ़ा निवेश। और इसके बाद कुल विदेशो मुद्रा भंडार अब 501.70 अरब डॉलर हो गया है। जानकारों के मुताबिक इस वृद्धि मे FCA फॉरेन करंसी एसेट का ज्यादा महत्व है। आंकड़ों के मुताबिक मई महीने के अंत तक 493 अरब डॉलर तक पंहुचा था विदेशो मुद्रा भंडार।

FCA का बड़ा योगदान :
  • विदेशी मुद्रा भंडार को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के लिए FCA फॉरेन करंसी एसेट के बड़ा महत्व है। 
  • FCA अमेरिकान डॉलर के आलावा अन्य देशो की मुद्रा को भी शामिल किया जाता है। और इनकी कीमतों के उतार चढाव को शामिल किया जाता है। 
  • 500 अरब डॉलर के रिकॉर्ड के बाद भारत अब सबसे ज्यादा विदेशी मुद्रा भंडार के मामले मे तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। 
  • भारत ने रूस और कोरिया को छोड़कर 3 नंबर प्राप्त कर लिया है वही भारत के आहे चीन और जापान अभी शामिल है। 

सोने के भण्डारण मे हुई कमी :
  • हलाकि इसी समय भारत का स्वर्ण भंडार कम हो गया है अब का स्वर्ण भंडारा 32352 अरब डॉलर हो गया है। जिसमे 329 अमेरिकन डॉलर की कमी हुई है। 
निर्यात पर देना होगा ध्यान :
  • हलाकि इस समय भारत को निर्यात पर ध्यान देना होगा। 
  • निर्यात कम होने से भारत मे विदेशी मुद्रा भंडार कम हो सकता है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां