-->

महिंद्रा एंड महिंदा के चौथी तिमाही के नतीजे घोषित दर्ज किया 3255 करोड़ का शुद्ध घाटा

Last Updated :10:45 AM 

मुंबई :महिंद्रा एंड महिंद्रा कंपनी के मार्च महीने के नतीजों के एलान हुआ है ,कंपनी को 3255 करोड़ का शुद्ध घाटा हुआ है। आंकड़ों के मुताबिक इसी समय पिछले साल कंपनी को 969 करोड़ का शुद्ध लाभ हुआ था। जानकारों ने महिंदा एंड महिंद्रा को लाभ होने की उम्मीद जताई थी। सञ्ञाग निवेश राइट डाउन के कारन कंपनी को घाटा होने के बात कही जा रही है.

घाटे के बावजूद 2.35 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड का एलान :


  • महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अपने चौथी तिमाही के परिणाम शुक्रवार को घोषित किये। 
  • कंपनी ने चौथी तिमाही का रेवेन्यू 9005 करोड़ था जो की पिछले साल के तुलना मे कम हुआ है। 
  • हलाकि इसके बावजूद भी कंपनी के शेयर शुक्रवार को 7 फीसदी चढ़े 508 रुपये की कीमत पर बंद हुए। 
  • कंपनी ने इसी समय 2 रुपये 35 पैसे प्रति शेयर डिविडेंड देने का भी एलान किया है। 

सांगयांग निवेश राइट डाउन से घाटा :

  • कंपनी ने कहा की इस तिमाही मे घाटा होने का सबसे बड़ा करण सांगयांग निवेश राइट डाउन रहा। 
  • कंपनी के बोर्ड ने यह फैसला किया था की सांगयांग मे किसी भी तरह का निवेश नहीं होगा। 
  • स्टैंडअलोन आधार पर कंपनी को चौथी तिमाही मे 2502 करोड़ का शुद्ध घटा हुआ है। पिछले साल इसी समय कंपनी को 849 करोड़ का स्टैंडअलोन लाभ हुआ था। 

घरेलु हिस्सेदारी बढ़ी :

  • भारत मे मार्च महीने से कोरोना महामारी के कारन सभी तरह के कारोबार प्रभावित हुए थे इसमे ऑटोमोबाइल क्षेत्र पर सबसे ज्यादा असर पड़ा था। 
  • लेकिन ऐसे समय भी महिंद्रा एंड महिंद्रा की घरलू बाजार मे हिस्सेदारी 3.7 फीसदी से बढ़कर 39.1 फीसदी हो गयी है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां