-->

कोरोना महामारी और लॉक डाउन के बिच Parle-G की रिकॉर्ड बिक्री सिर्फ 3 महीने मे टुटा 82 साल का रिकॉर्ड

Last Updated :07:20 PM 

मुंबई : कोरोना महामारी और लॉक डाउन के सिर्फ देश ही बल्कि पूरी दुनिया को संकट मे डाल दिया है। लॉक डाउन के कारन भारत मे पिछले 2 महीनो से कारोबार बंद थे। जिसके कारन कई कारोबार बंद पड़ने के कगार पर पहुंच गए है लेकिन इसी कुछ ऐसे कंपनी या भी है जिन्हे इस महामारी का बहुत फायदा हुआ है Parle G ऐसी इन कारोबार की लिस्ट मे सबसे ऊपर है। Parle G ने पिछले 3 महिनी मे रिकॉर्ड सेल किया है। जिसने पिछले 80 सालो का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इसका मतलब 80 साल बाद Parle G को इतने बड़ी बिक्री हुई है। आपको बता दे की Parle G एक सबसे पुराण बिस्कुट ब्रांड है जिसकी शुरवात 1938 मे हुई थी। 

Parle G के शेयर मे भी भारी बढ़ोतरी :

  • Parle प्रोडक्ट्स के हेड मयंक शाह ने बताया की कंपनी के कुल मार्किट शेयर मे करीब 5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है इसमे सबसे ज्यादा योगदान Parle बिस्किट का रहा है। 
  • उनके मुताबिक Parle G लॉक डाउन के समय सबसे आसान खाने की चीज थी जिसे लोगो ने खरीद कर गरीब लोगो मे भी बहुत बाँट दिया। 
  • इसके आलावा सिर्फ 5 रुपये की कीमत होने के कारन Parle G लेबा गरीब लोगो को भी आसान था। 
  • कई लोग इसे अपने घर मे रखना भी पसंद कर रहे थे गर्मी के समय मे Parle G एक सबसे बड़ा ग्लूकोस सोर्स भी माना जाता है। 
  • इस मुसीबत के समय प्रवासी मजदुर जब अपने घर सेकड़ी मील चल कर जा रहे थे तब उन्हें Parle G बिस्किट से भूक को मिटाने मे मदत मिली। 
  • हलाकि कंपनी की तरफ से बिक्री के आंकड़े नहीं जारी किये गए लेकिन पिछले 80 साल मे सबसे ज्यादा बिक्री मतलब कंपनी को अक्कगा नफा होने की उम्मीद है। 

सबसे पुराणों बिस्किट कंपनी :

  • Parle G देश की सबसे पुराणी  बिस्किट कंपनी है जिसकी शुरवात 1938 मे हुई। 
  • पुरे देश भर मे कुल 130 Parle G की फ़ैक्टरिया है जहा पर बिस्किट का उत्पादन होता है। 

बाकि कंपनी के बिस्किट भी बोहोत बीके :

  • सिर्फ Parle G ही नहीं बल्कि बाकि कंपनी के बिस्किट के बिक्री मे भी इजाफा हुआ है। 
  • इसमे ब्रिटानीया ,गुड डे ,जैसे बिस्किट भी बाइक लेकिन इन सब मे Parle G की कीमत सबसे कम थी। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां