-->

कोरोना महामारी के कारन 1870 के बाद आ सकती है सबसे बड़ी मंदी वर्ल्ड बैंक ने जताई चिंता

Last Updated :12:49 PM 

मुंबई :कोरोना महामारी के कारन पिछले 3 महीनो से पूरी दुनिया मे कारोबार पर असर पड़ा हर देश की अर्थव्यसव्था पवार बड़ा असर पड़ा है। वैश्विक अर्थव्यस्था भी इन 3 महीनो मे ख़राब दौर से गुजर रही है। वल्र्ड बैंक ने इस पर चिंता जताई उनोने एक नै रिपोर्ट पेश की है जिसका नाम ग्लोबल इकनोमिक प्रॉस्पेक्ट है जिसमे कहा है की 1870 के बाद ऐसा पहली बार हो रहा है की किसी महामारी के कारन दुनिया भर के अर्थव्यस्था पर असर पड़ रहा है। जिससे 1870 के बाद पहली बार दुनिया को बड़ी आर्थिक मंदी का सामना करना पड़ सकता है जिसमे लाखो लोग गरीब हो सकते है। 

1870 मे आयी थी सबसे बड़ी मंदी :

  • आपको बता दे की सबसे बड़ी मंदी 1870 मे आयी थी जिसके बाद कुल 14 आर्थिक मंदी काल से दुनिया गुजर चुकी है। 
  • जिसमे 1876, 1885,1893,1908,1914,1917,1930,1938,1946,1975,1982,1991,2009 और अब 2020 मे भी दुनिया आर्थिक मंदी से गुजर रही है लेकिन सबसे बड़ी बात ये मंदी 1870 के बाद की अब तक की सबसे बड़ी मंदी मे बदल सकती है। 
  • वल्र्ड बैंक के रिपोर्ट के मुताबिक प्रति व्यक्ति के इनकम मे 3 6 फीसदी के गिरावट आने की संभावना है इसके कारन करोड़ी लोग गरीब हो सकते है। 
  • इसमे सबसे ज्यादा गरीबी महामारी से ज्यादा प्रभावित होने वाले देशो मे आएगी जहा पर हालत काफी ख़राब होंगे। 
  • इस साल वैश्विक अर्थव्यस्ता मे 5.2 फीसदी गिरावट आने की संभावना है इसका आलावा भारत के इकॉनमी पर मे 3.2 फीसदी के गिरावट का अनुमान है। 
  • विक्सित देशो मे भी अर्थव्यवस्था 7 फीसदी से घटेगी। इस मंदी का पूरी दुनिया पर 1870 के बाद सबसे ज्यादा बुरा असर पड़ने की आंशका वर्ल्ड बैंक ने जताई है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां