-->

इस सरकारी स्कीम मे करे निवेश सिर्फ 1 हजार से कर सकते है निवेश शुरू इतने दिन मे होता है पैसा डबल

Last Updated :07:02 AM 

मुंबई :इस  कोरोना महामारी के कारन FD के ब्याजदरों मे काफी कमी आयी है इसलिए लोग FD मे निवेश करना नहीं चाहते है इसके आलावा शेयर बाजार म्यूच्यूअल फण्ड भी कोरोना महामारी के कारन काफी  उथल पुथल के बिच से गुजर रहा है ऐसे मे अच्छी और सुरक्षित रिटर्न के लिए लोग निवेश का विकल्प तलाश रहे है। इसी बिच केंद्र सरकार की भारत बांड ETF की दूसरी किश्त 14 जुलाई से निवेश के लिए खुल रही है। आपको बता दे की केंद्र सरकार ने इस फण्ड के जरिये 14 हजार करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई है। 

14 जुलाई से खुलेगा भारत बॉन्ड ETF :

  • आपको बता दे की भारत बॉन्ड ETF देश सबसे पहला कॉर्पोरेट बॉन्ड एक्सचज ट्रेडेड फण्ड है। 
  • आप इस योजना मे महज 1 हजार रुपये से निवेश की शुरवात कर सकते है। 
  • इससे पहले भारत बॉन्ड ETF की पहली किश्त 2019 मे आयी थी जिसके जरिये केंद्र सरकार ने 12400 करोड़ रुपये जुटाए थे। 
  • अब इस फण्ड को 14 जुलाई को निवेश के लिए  खोला जायेगा  और 17 जुलाई को बंद होगा इसके जरिये सर्कार ने 14 हजार करोड़ रूपए जुटाने का लक्ष्य है। 

भारत बांड ETF की विशेष बातें :

  • बाकि म्यूच्यूअल फण्ड के तुलना मे भारत बॉन्ड ETF का एक्सपेंसेस रेश्यो काफी कम होता है। 
  • जानकारी के मुताबिक फिलहाल एक्सपेंसेस रेश्यो 0.005 फीसदी है। 
  • भारत बॉन्ड ETF इसमे आपके निवेश को सुरक्षा मिलती है और आपका पैसा कहा निवेश हुआ है ये भी आप जान सकते है। 
  • म्यूच्यूअल फण्ड निवेश मे सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है भारत बॉन्ड ETF 
  • भारत बॉन्ड ETF मे CPSE ,CPSU ,CPFI और सरकारी बॉन्ड मे मिबेष करता है। 
  • इस फण्ड पर आप शेयर बाजार पर ट्रेडिंग कर सकते है। 
  • इस बॉन्ड सबसे छोटी साइज 1 हजार रुपये की है। 
  • आप इस ETF फण्ड के पोर्टफोलिओ होल्डिंग को रोजना  वेबसाइट के जरिये ट्रैक कर सकते है। 
  • इन दोनों सीरीज का मचोरिटी समय अप्रैल 2025 और अप्रैल 2031 है तय मचोरिटी के साथ किश्त मचोर होती है। 

भारत बॉन्ड ETF की ब्याजदर :

  • भारत बॉन्ड ETF पर इस समय 7.58 फीसदी के दर से ब्याज मिल रहा है। 
  • अगर आपने इस फण्ड मे 1 लाख का निवेश किया तो इस ब्याजदर से आपको अगले 10 साल मे आपकी रिटर्न डबल हो सकती है। 
  • हलाकि आपके रेटेन पर आपको टैक्स चुकाना पड़ता है क्यों की ये फण्ड पूरी तरह टैक्सेबल है। 
  • लेकिन जानकारों के अनुसार लम्बे समय तक इस योजना मे निवेश करने से ज्यादा लाभ मिलने की संभावना है

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां