-->

इ कॉमर्स कंपनियों की बड़ी राहत कंट्री ऑफ़ ओरिजिन का नियम 1 अगस्त से होगा लागु

Last Updated :07:44 PM 

मुंबई :केंद्र सरकार ने कंट्री ऑफ़ ऑरिजिन को लेकर इ कॉमर्स कंपनियों को बड़ी राहत दी है।सरकार ने इ कॉमर्स कंपनियों को अपने वेबसाइट पर बेचे जाने वाले हर उत्पाद का कंट्री ऑफ़ ओरिजिन की जानकारी अनिवार्य की है। हलाकि इस पर राहत देते हुए 1 अगस्त तक का समय दिया गया है। केंद्र सरकार ने इ कॉमर्स कंपनियो को कोरोना महामारी के कारन अतिरक्त समय दे दिया है। 

सितम्बर तक पूरी तरह से लागू होगा नियम :

  • केंद्र सरकार ने कंट्री ऑफ़ ओरिजिन का नियम लागू करने के बाद अभी तक वेबसाइट के प्रोड्कट की जानकारी नहीं दी गयी है। 
  • इसी के लिए DIPPGOI की तरफ से आज बैठक ली गयी जिसमे जिसमे सितम्बर तक नियम को पूरी तरह से लागू करने की जानकारी दी गयी है। 
  • इस बारे मे DPIIT ने कॉमर्स कंपनियों को निर्देश भी जारी किया है की उनके प्लेटफार्म पर मौजूद हर एक प्रोडक्ट की पूरी जानकारी देने अनिवार्य है। 
  • इसमे प्रोडक्ट कहा से आया है कहा बनाया गया है इसकी जानकारी देनी होगी। 

इ कॉमर्स कंपनियों ने माँगा कम से कम 3 महीने का समय :

  • कंट्री ऑफ़ ओरिजिन का नियम लागू होने के बाद इ कॉमर्स कंपनोयो ने हर उत्पाद की जानकारी देने मके लिए कम से कम 3 महीने का समय माँगा है। 
  • हलाकि DPIIT ने सर इतना ही कहा की कम्पनिया  नियमो का पालन करे पोर्टल पर मौजूद सभी उत्पादों की मूल कंट्री की जानकरी देना  जरुरी है। 
  • इसका मतलब ी कॉमर्स कंपनियों को अगले 1 अगस्त तक सभी लिस्टिंग की जानकरी देनी होगी। 

आत्माभिर्भार भारत के अभियान को मजबूती देने की सर्कार की कोशिश :

  • जानकारों की अनुसार सरकार ने यह फैसला आत्मनिर्भर भारत अभियान को आगे बढ़ाने के लिए लिया है। 
  • कंट्री ऑफ़ ओरिजिन का मतलब इ कॉमर्स कंपनी के पोर्टल पर मौजूद सभी विक्रेताओ को अपने हर एक उत्पाद के मूल देश की जानकरी देना है। 
  • अगर कंपनी उत्पाद के मूल देश की जानकारी नहीं देती है तो इसे पोर्टल से हटा दिया जाता है। 
  • केंद्र सरकार की इ मार्केटप्लेस GeM पर यह नया नियम पहले से लागु हो गया है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां