-->

रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए सबसे बेहतरीन है NPS निवेश योजना यहाँ जाने खाता खोलने की पूरी प्रोसेस

Last Updated :06:39 PM 

मुंबई :रिटायरमेंट प्लानिंग हर एक नौकरी करने वाले व्यक्ति को जरूरी है क्यों की रिटायरमेंट के बाद इनकम का जरिये बंद हो जाता है ऐसे मे खुद के लिए अलग से निवेश करने से आपकी निजी जरूरतों आप खुद पूरा कर सकते है। सरकार इसके लिए लोगो को अलग अलग योजनाए देती है इसमे नेशनल पेंशन सिस्टम NPS एक सबसे बढ़िया विकल्प है। इस योजना के तहत आप आपके नौकरी करते समय कुछ योगदान नियमित रूप से NPS मे दाल सकते है। जो की रिटायरमेंट के बाद आपको नियमित रूप से पेंशन प्रदान करती है। 

NPS निवेश योजना की खास बातें :

  • NPS मे आपकी निवेश की गयी राशि शेयर मार्किट एक्विटी मे लगाए जाती है जहा पर रिटर्न ज्यादा होती है। 
  • NPS फण्ड मनहर आपके निवेश को नियंत्रित करता है जो की काफी अनुभवी होता है इसके कारन अच्छी गारंटीड रेटेन इनकम की उम्मीद कर सकते है। 
  • इसी समय आपका आधार निवेश सरकारी बांड सिक्योरिटीज मे किया जाता है जो की काफी सुरक्षित होता है। 
  • सबसे बड़ी बात आपको NPS मे कितना रिस्क लेना है खुद तय कर सकते है। 
  • लेकिन यह निवेश योजना सरकार की तरफ से चलाई जाने के कारन आपको गारंटीड रेटेन मिल जाता है।
  • NPS मे निवेश करने के बाद आपके योगदान के 1 लाख 50 हजार की राशि टैक्स फ्री होती है 
  • 60 साल की उम्र मे आपके कुल निवेश के 40 फीसदी की राशि की एन्युटी खरीदनी पड़ती है जो की आपको हर महीने निश्चित पेंशन देती है। 
  • इसके आलावा बाकि की 60 फीसदी की राशि आप निकाल सकते है जो की पूरी तरह से टैक्स फ्री होती है। 
  • 60 साल पहले NPS निवेश से राशि निकलने के लिए आपको इस योजना मे कम से कम 3 साल पुरे करना जरुरी है। 
  • 3 साल बाद कारन की जानकारी देकर 25 फीसदी तक की राशि निकाली जा सकती है। 
  • इसके आलावा अगर आपने जिस फण्ड मैनेजर को चुना है अगर आपको रेटेन कम लग रही है तो उसे बदल भी सकते है। 
  • इसके आलावा एक और विकल्प मिलता है जिसमे निवेश किस तरह से करना है इसे आप चुन सकते है। 

२ तरह के होते NPS खाते :

  • इस योजना के तहत टियर 1 और टियर 2 इस प्रकार 2 तरह के NPS खाते होते है। 
  • इसमे टियर  1 खाता खोलना अनिवार्य होता है इस खाते मे निवेश की गयी रकम रिटायरमेंट के समय हिओ निकल सकते है। 
  • टियर 2 खाता टियर 1 खाताधारक खोल सकता है इस खाते मे यहाँ पर कभी भी पैसा निकला और जमा किया जा सकता है हलाकि यह खाता अनिवार्य भी नहीं है। 

NPS खाता खोलने की प्रोसेस :

  • आप POP पॉइंट ऑफ़ प्रेसेंसे के जरिये NPS खाता खोल सकते है। 
  • देश के सभी निजी बैंको मे आप NPS खाता खोल सकते है इसके आलावा पेंशन नियामक मंडल के वेबसाइट के जरिये भी ऑनलाइन NPS खाता खोल सकते है। 
  • खाता खोलने के लिए आपको एड्रेस प्रूफ ,आय डी प्रूफ ,जन्मा प्रमाण पत्र ,और रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरके सब्मिट करना होता है। 

NPS मे ऑनलाइन खाता खोलने की प्रोसेस :

  • NPS मे ऑनलाइन खाता खोलने के लिए सबसे पहले आपको NPS की वेबसाइट पर जाना है। .
  • इसके बाद ऑनलाइन सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन का विकल्प चुनना है। 
  • नई यूजर रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करके वर्चुअल आय डी डालना पड़ेगा। 
  • इसके बाद NPS धारक को उसके मोबाइल पर OTP मिलेगा उस OTP डालकर सबमिट कर देना है। 
  • इसके बाद एक अन्नोलजमेंट नंबर दिया जायेगा जिसपर यूजर का नाम दिखाया जायेगा। 
  • इसके बाद अगली स्टेप पर आपको आपकी पर्सनल ,जानकारी भरनी है और  बैंक की जानकारी भी देनी है। 
  • इसके बाद खाताधारक के नाम PRAN परमेनन्ट रिटायरमेंट  अकाउंट नंबर     नंबर तैयार हो जाय्रेगा जिसके जरिये खाताधारक NPS की वेबसाइट पर लोग इन करके निवेश कर सकते है और खुद के खाते की नियंत्रित भी कर सकते है। 

NPS खाता खोलने की ऑफलाइन प्रोसेस :

  • NPS खाता ऑफलाइन खोलने के लिए आपको POP पॉइंट ऑफ़ प्रेसेंसे मतलब नजदीकी बैंक मे जाना पड़ेगा। 
  • वह पर NPS सब्सक्राइबर फॉर्म भरकर उसे जरुरी दत्सावजो के साथ सब्मिट करना पड़ेगा। 
  • इसी समय आपको शुरवात का निवेश करना है जिसके बाद आपको 12 अंको का PRAN नंबर दिया जाता है। 
  • इस के लिए आपको 125 रुपये शुल्क का भुगतान POP को करना पड़ता है। 
  • प्राण नंबर और पासवर्ड के जरिये आप ऑनलाइन लोग इन करके खाते को नियंत्रित कर सकते है। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां