-->

अगर बैंक मे है FD तो 31 जुलाई के पहल भरे फॉर्म 15 G और 15 H नहीं देना पड़ेगा 10 फीसदी तक टैक्स

Last Updated:06:30 PM 

मुंबई :क्या आपकी बैंक मे FD है तो आपके लिए ये खबर पैसे बचाने वाली साबित हो सकती है। आपको पता होगा की हर साल FD पर TDS टैक्स काटा जाता है जानकारी के मुताबिक आपको FD पर मिलने वाले ब्याज के 10 फीसदी टैक्स TDS देना पड़ता है। लेकिन अगर आपकी इनकम टैक्सेबल नहीं है तो आप फॉर्म 15 G और 15 H भरकर इस टैक्स से छूट पा सकते है। इस फॉर्म को भरने की आखिरी तिथि इस वित्त वर्षा 2020-21 के लिए 31 जुलाई 2020 है अगर आपने इस समय तक फॉर्म को जमा नहीं किया तो आपका टैक्स काटा जायेगा। 


ऑनलाइन भर सबमिट कर सकते है फॉर्म 15 G और H :

  • बता दे की लॉक डाउन के कारन सरकार ने इस फॉर को भरने की तिथि को दूसरी बार आगे बढ़ाया है इससे पहले 31 मार्च और उसके बाद 30 जून कर दी गयी थी। 
  • हलाकि अभी भी कोरोना महामारी का खतरा टला नहीं है इसलिए ज्यादातर बैंक ऑनलाइन फॉर्म सबमिट करने का विकल्प दे रही है। 
  • फॉर्म 15 G और 15 H एक सेल्फ डिक्लेरेशन फॉर्म होता है इसमे आप इस बात की जानकारी देते है की आपकी इनकम टैक्स के दायरे मे नहीं आती है। 
  • इस फॉर्म को सब्मिट करने के बाद आपके आपको आपके ब्याज पर TDS नहीं देना पड़ेगा। 
  • लेकिन फॉर्म नहीं भरते है तो इसका मतलब आपकी इनकम टैक्सेबल है तो सीधा TDS काटा जायेगा। 
  • आपको बता दे की अगर आपको एक साल मे बैंक FD से 10 हजार से ज्यादा ब्याज मिलता है तो उसपर TDS काटा जाता है वरिष्ठ नागरिकको के लिए यह सिमा 50 हजार है। 
  • इसमे फॉर्म 15 G साधारण लोगो के लिए होता है वही फॉर्म 15 H खासतारूर पर रिष्ठ नागरिकको के लिए होता है। 

फॉर्म 15 G और H ऑनलाइन भरने की प्रोसेस :

  • आपका किसी भी बैंक मे खाता हो आप नेट बैंकिंग की इस प्रोसेस को पूरा करके FD पर फॉर्म 15 G और H भर सकते है। 
  • इसके सबसे पहले आपको आपके नेट बैंकिंग आय डी पासवर्ड के जरिये लोग इन करना पड़ता है। 
  • इसके बाद E-Services का विकल्प चुनना है यहाँ पर आपको सब्मिट फॉर्म 15 G और H का विकल्पे मिलेगा आपको उनमेसे एक चुनना है। 
  • इसके बाद आपको CIF के विकल्प पर क्लिक कर देना है और जानकरी को सब्मिट कर देना है। 
  • अगले स्टेप मे एक फॉर्म 15 G या फिर H ओपन हो जायेगा वह पर पूछी जानकारी भरनी है। 
  • इसके बाद जानकारी फिर एक बार चेक कर कन्फर्म कर देनी है। 
  • फिर आपको एक OTP मोबाइल नंबर पर भेजा जायेगा उसे डालकर वेरिफिकेशन पूरा कर देना है। 
  • फॉर्म सबमिट होने के बाद आपको UIN नंबर और उसकी रिसीप्ट PDF फॉर्मेट मे दी जाएगी। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां