-->

15 जुलाई से खुलेगा Yes बैंक का FPO 15 हजार करोड़ जुटाने की तैयारी 17 तक रहेगा खुला

Last Updated :12:21 PM 

मुंबई :Yes Bank FPO के जरिये 15 हजार करोड़ रुपये जुटाने की तयारी मे है। बैंक ने गुरवार को इस बात की जानकारी दी की अनुवर्ती सावर्जनिक निगम FPO के जरिये 15 हजार करोड़ रुपये जुटाने के लिए रेड हरिंग प्रोस्पेक्टर को जमा किया है। इसके मुताबिक बैंक फ्रेश इक्विटी शेयर बाजार मे लाएगी और FPO को इसी महीने 15 जुलाई को खोला जायेगा और 17 जुलाई 2020 को बंद होगा। बैंक ने बताया की सोमवार को इस बारे मे निर्देशक मंडल की बैठक मे मंजूरी दी गयी थी। 

संकट मे आने के बाद सरकार ने बैल आउट प्लान को मंजूरी दी थी :

  • मार्च के महीने मे Yes बैंक RBI ने पैसे निकालने पर पाबन्दी लगाई थी। 
  • इसके बाद सरकार यस बैंक को बचाने के लिए बैल आउट प्लान  के तहत मंजूरी दी थी। 
  • इसके बाद SBI ने यस बैंक मे 6 हजार करोड़ का निवेश किआ था इसके  आलावा एक्सिस बैंक ,HDFC बैंको ने मिलकर करीब 10 हजार करोड़ का निवेश किया था। 
इस तरह होगा FPO का ऑफर :
  • यस बैंक ने इस बात की जानकारी दी की 7 जुलाई FPO के लिए  हरिंग प्रॉस्पेक्ट्स को कंपनी रेजोस्टर महाराष्ट्र केपास फाइल किया गया है। 
  • इस FPO का ऑफर साइज 15 हजार करोड़ का  है इसमे नए इक्विटी जारी किये जायेंगे। 
  • यस बैंक ने इसमे 200 करोड़ रुपये तक के शेयर कर्मचारीओ के लिए आरक्षित किये है। 
  • हलाकि अभी तक प्राइस बैंड और डिस्काउंट पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। 
  • कंपनी ने कहा की 10 जुलाई या उसके बाद निर्देशक मंडल के बैठक मे इसपर फैसला लिया जायेगा। 

यस बैंक FPO मे निवेश करेगा SBI :

  • यस बैंक के FPO मे SBI 1760 करोड़  का निवेश करेगा SBI ने इसबात की जानकरी दी की RBI ने इस FPO मे अधिकतम 1760 करोड़ का निवेश करने की अनुमति दी है। 

क्या होता है FPO ?

  • जब कोई कंपनी अपने नए जारी करके उसे शेयर बाजार मे बेचती है तो उसे FPO कहा जाता है। 
  •  इसका पूरा नाम फोलो ऑन पब्लिक ऑफरिंग ऐसा है। 
  • इसके तहत शेयर बाजार मे लिस्टेड कंपनी फण्ड जुटने के  लिए सार्वजनिक तरीके से अपने नए शेयर जारी करती है। 
  • कंपनी इसके लिए एक प्राइस बैंड को तय करती है। 
  • जब नयी शेयर बाजार पर लिस्टेड होने के पहले शेयर जारी करती  है उसे आईपीओ कहा जाता है। 
  • और लिस्टेड होने के बाद अतरिक्त पूंजी जुटाने के लिए जो शेयर जारी किये जाते है उसे FPO कहते है।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां