-->

ग्रेच्युटी के नियमो मे हो सकता है बदलाव अब 5 साल पहले नौकरी छोड़ने पर भी मिल सकती है ग्रेच्युटी

मुंबई :सरकार ग्रेच्युटी के नियमो मे बदलाव करने पर विचार कर रही है। अगर इसपर संमति बनती है तो नौकरी छोड़ने के बाद मिलने वाले ग्रेच्युटी की समय सिमा 5 से कम होकर 1 से 3 के बिच की जा सकती है। हलाकि सरकार इस बारे विचार कर रही है इसपर अभी कुछ अंतिम फैसला नहीं लिया गया है। इस बारे मे संसदीय समिति ने सरकार को अपनी रिपोर्ट भेजी है उसमे साफ़ तौर पर कहा गया है की ग्रेच्युटी भुगतान की समय सिमा को 5 साल से कम करके 1 साल कर देनी चाहिए इस रिपोर्ट के बात अब ऐसा लग रहा है की सरकार इस बारे मे अंतिम निर्णय जल्द ही ले सकती है। 


क्या है ग्रेच्युटी ?(What Is Gratuity)

  • ग्रेच्युटी एक ऐसी राशि है जो इस समय के नियमो के मुताबिक 1 ही कंपनी मे  5 साल या उससे ज्यादा काम करने वाले कर्मचारी को दी जाती है। 
  • ग्रेच्युटी राशि का भुगतान कर्मचारी के काम करने के प्रति साल 15 दिन की सैलरी के आधार पर किया जाता है। 
  • हलाकि ग्रेच्युटी पेमेंट एक्ट 1972 के मुताबिक ग्रेच्युटी की राशि ज्यादा से ज्यादा 20 लाख तक की हो सकती है। 
  • ग्रेच्युटी की राशि 5 साल या उससे अधिक पुरे होने के बाद दी जाती है.
  • हलाकि की ये राशि उस व्यक्ति को जॉब छोड़ने के बाद ,काम से निकलने के बाद या फिर रिटायर होने के बाद ही दी जाती है। 
  • इसी समय अगर किसी हादसे मे कर्मचारी की मौत हो जाती है तो भी उसके नॉमिनी को ग्रेच्युटी की राशि दी जाती है। 

10 कर्मचारी संख्या होने वाले संस्था को अनिवार्य है ग्रेच्युटी :

  • ग्रेच्युटी  एक्ट के दायरे मे ऐसे सभी संस्थाए आती है जिमि पिछले 12 महीने मे 10 या उससे अधिक कर्मचारीओ ने काम किया है। 

श्रम मामलो के संसदीय समिति ने दी ग्रेच्युटी समय को कम करने की सिफराश :

  • श्रम मामलो के संसदीय समिति ने ग्रेच्युटी भुगतान को 1 साल करने की सिफारिश दी है। 
  • समिति ने इसके पोछे कारन देते हुए कहा की अब तक 5 साल की समय सिमा देने के पीछे कारन लोगो को एक ही  कंपनी मे लम्बे समय तक रहकर काम करने का था। 
  • लेकिन अब समय बदल गया है अब लोग अच्छे सैलरी पैकेज और अच्छी नौकरी के लिए पहली वाली नौकरी अक्सर इससे पहले ही छोड़ देते है। 

ग्रेच्युटी की राशि निकलने का फार्मूला :

  • ग्रेच्युटी की राशि निकलते समय सबसे बड़ी बात अगर आप 5 साल 8 महीने काम करते है तो आपके कुल 6 साल माने जायेंगे वही  अगर आप 5 साल 4 ,महीने काम करते है तो आपके 5 ही साल माने जायेंगे। 
  • इसी समय दूसरी जरुरी बात 1 महीने के 30 दिनों से 26 दिन गिने जाते है क्यों की बाकि 4 दिन छुट्टी होती है। 
  • इसके बाद आपकी जो आखिरी सैलरी होती है उसका DA और बेसिक सैलरी इसमे महीने के 15 दिन लिए जाते है और काम करने के साल से गुना जाता है। 
आपके आखिरी महीने की सैलरी 
______________________ *15*5=ग्रेच्युटी 
                     26 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां