-->

EMI मोरोटोरियम मामला :केंद्र सरकार ने कोर्ट से माँगा 2 दिन का समय 5 अक्टूबर को अगली सुनवाई क्या मिलेगी ब्याज से राहत

मुंबई :केंद्र सरकार ने कोरोना काल मे राहत हेतु 6 महीने का मोरोटोरियम लाभ  था हलाकि इसपर अतरिक्त ब्याज लेने के कारन इसके ऊपर सुप्रीम कोर्ट मे याचिका दायर की गयी थी EMI मोरोटोरियम की अवधि तो समाप्त हो चुकी है लेकिन अभी तक इस मामले पर कोई निर्णय नहीं हो पाया है। आज फिर सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से और 2 से 3 दिन का समय माँगा है जिसके बाद कोर्ट ने अगली सुनवाई 5 अक्टूबर 2020 तक ताल दी है इसी के साथ कोर्ट ने लोन मोरोटोरियम की अवधि को भी 5 अक्टूबर 2020 तक बढ़ा दिया है। 


RBI और केंद्र सरकार मे बातचीत जारी :

  • केंद्र सरकार ने आज सुनवाई के दौरान कहा की इस मामले मे RBI से बातचीत जारी है और बोहोत जल्द इस समस्या को हल किया जायेगा। 
  • आज सुबह कोर्ट की सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार के वकील जनरल  तुषार मेहता ने इस बात की जानकारी दी की केंद्र सरकार ने इस मामले मे अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है। 
  • हलाकि इसके पहले सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने ब्याज पर ब्याज माफ़ी का करने के लिए नाखुशी जताई थी। 
  • सरकार के कहना है की ब्याज पर ब्याज माफ़ी करने से बैंक को नुकसान हो सकता है और बैंक और कमजोर हो सकते है। 

ऐसा है पूरा मामला :

  • आपको बता दे की RBI ने मार्च से मई तक 3 महीने लोन मोरोटोरियम की सुविधा को दिया था। 
  • कोरोना महामारी का प्रकोप देखते हुए इसे जून से अगस्त और 3 महीने आगे बढ़ा दिया गया था। 
  • .हलाकि RBI ये भी स्पष्ट किया थी इस दौरान ब्याज लिया जायेगा और उस ब्याज पर भी ब्याज लिया जायेगा। 
  • अगस्त मे मोरोटोरियम लाभ ख़तम होने के पहले ही ब्याज पर ब्याज का विरोध करते हुए याचिका दायर की गयी। 
  • इसकी सुनवाई को कुल ३ बार आगे बढ़ा दिया था आखिरी सुनवाई आज याने 28 सितम्बर को होने वाली थी जिसे अब 5 अक्टूबर तक आगे बढ़ा दिया गया है। 

कम्प्पाउण्ड इंर्टेस्ट से बढ़ रही है नए EMI की राशि :

  • जब की RBI ने लॉक डाउन से रहत देने के लिए लोन मोरोटोरियम का विकल्प दिया था। 
  • लेकिन इससे सिर्फ EMI ताल रहा था इसपर लगने वाला ब्याज आगे बढ़कर EMI की राशि को बढ़ने वाला होगा ऐसा लोगो ने नहीं सोचा था। 
  • इस बारे मे याचिकाकर्ता का कहना है की अगर सरकार ने राहत हेतु इस सुविधा को दिया था तो ब्याज पर ब्याज लेकर EMI बढ़ने से इसे लोगो को क्या फायदा हुआ। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां