-->

शेयर बाजार के हलचल के बिच क्या करना चाहिए मल्टी कैप फण्ड मे निवेश यहाँ जाने सबसे अच्छे मल्टी कैप फण्ड

2020 के इस वर्ष मे शेयर बाजार मे निवेश इतना अच्छा नहीं रहा है इसी समय म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश करने वाले इस दुविधा मे है की कहा निवेश करना ज्यादा फायदेमंद रहेगा म्यूच्यूअल फण्ड मे स्माल कैप लार्ज कैप मिड कैप फण्ड का विकल्प होता है लेकिन इसके आलावा मल्टी कैप फण्ड का भी एक और विकल्प होता है जहा पर निवेश किया जा सकता है। इस समय के शेयर बाजार की स्तिथि के अनुसार मल्टी कैप फण्ड मे निवेश करना सबसे ज्यादा फायदेमंद साबित हो सकता है। 


    क्या होते है मल्टी कैप फण्ड :

    • मल्टी कैप फण्ड इक्विटी बेस्ड म्यूच्यूअल फण्ड होते है इस फण्ड मे अलग अलग कंपनी के अलग अलग मार्किट कैपिटल वाले तथा अलग सेक्टर वाले कंपनी मे निवेश किया जाता है। 
    • इस तरह के म्यूच्यूअल फण्ड मे बाजार के स्तिथि के अनुसार कंपनी के शेयर चुनकर निवेश किया जाता है।  

    मल्टी कैप म्यूच्यूअल फण्ड मे निवेश करने के फायदे :

    • मल्टी कैप म्यूच्यूअल फण्ड मे आपके लगाए पैसे  सही तरह से अलग अलग तरह के सेक्टर और कंपनी मे निवेश होता है जिससे किसी भी तरह के बाजार स्तिथि मे आपको नुकसान नहीं होता है.
    • पिछले 5 साल के जानकारी के मुताबिक मल्टी कैप फण्ड किसी भी बाजार स्तिथि मे अच्छा रिटर्न देते है। 
    • इसी समय लार्ज कैप ,मिड कैप ,और स्माल कैप फण्ड से ज्यादा रिटर्न मल्टी कैप फण्ड ही देते है। 
    • सबसे बड़ी बात इस तरह के फण्ड मे आपका पैसा डूबने का खतरा काफी कम होता है। 

    कैसे चुने सबसे अच्छा मल्टी कैप फण्ड :


    हर एक मल्टी कैप फण्ड की ऑफर अलग अलग होती आप आपके जरुरत के अनुसार अच्छा मल्टी कैप फण्ड चुन सकते है। 

    • रिस्क :
    सबसे पहले आपको इस बात को देखना चाहिए की आप रिस्क कितनी ले सकते है मल्टी कैप फण्ड मे रिस्क लार्ज कैप फण्ड से ज्यादा है लेकिन स्माल कैप वाले फण्ड से कम इसका मतलब इस तरह के फण्ड माधयम रिस्क वाले फण्ड माने जाते है जिससे इसमे निवेश करना अच्छा माना जा सकता है.
    • टैक्स कितना लगेगा ?
    आपको फण्ड चुनते वक़्त इस बात का भी ख्याल रखना पड़ेगा की आपका फण्ड से राशि को निकलते समय कितना कैपिटल गेन टैक्स लिया जा रहा है आपको बता दे की हर एक म्यूच्यूअल फण्ड शार्ट टर्म कैपिटल गेन और लॉन्ग टर्म गेन्स टैक्स लगाया जाता है.

    • फण्ड हाउस और फण्ड मैनेजर की जानकारी :
    म्यूच्यूअल फण्ड मे आपका लगाया गया पैसा किन शेयर पर लगाना है इसका निर्णय फण्ड मैनेजर लेता है फण्ड मैनेजर को इस तरह के निर्णय सही समय पर और तुरंत लेने पड़ते है इसी के लिए मल्टी कैप फण्ड मे निवेश करने के लिए उस फण्ड मैनेजर की परफॉरमेंस देखना फायदेमंद हो सकता है। 

    • अन्य शुल्क :
    फण्ड स्कीम चुनते वक़्त उसमे कितना शुल्क लिया जा रहा है कोई छिपा शुल्क है तो उसकी भी जानकारी लेनी चाहिए जब आप किसी म्यूच्यूअल फण्ड की जानकारी देखते है तब निचे दिखाए गए एक्सपेंस रेश्यो की मदत से आप उस फण्ड की शुल्क के बारे मे जान सकते है। 

    • पिछले 5 साल का रिटर्न :

    चाहे कोई शेयर हो या फण्ड आपको निवेश करते समय पिछले 5 साल के रिटर्न प्रतिशत को देखना चहिते इससे आपको जानकारी मिलेगी की फण्ड किस तरह से परफॉर्म कर रहा है इससे आपको ये भी पता चल जायेगा की आपको 1 साल मे कितनी रिटर्न मिल सकती है। 


    साल 2020-21 के लिए निवेश के लिए सबसे अच्छे मल्टी कैप फण्ड :



    * यह जानकारी 13 अक्टूबर 2020 तक अपडेटेड है। 

    SEBI का नया 25:25:25 नियम :


    • मल्टी कैप फण्ड मे निवेश की शुरवात करने के पहले आपको SEBI के नए नियम को जान लेना चाहिए। 
    • SEBI के नए नियम के मुताबिक फण्ड मैनेजर को अपने फण्ड स्कीम के 75 फीसदी फण्ड को इक्विटी मार्किट मे निवेश करना पड़ेगा। 
    • जब इसके पहले यह प्रतिशत 65 फीसदी का था। 
    • इसी समय फण्ड मैनेजर को 25 फीसदी फण्ड लार्ज कैप 25 फीसदी मिड कैप और 25 फीसदी फण्ड को स्माल कैप कंपनी के शेयर मे निवेश करना अनिवार्य किया गया है। 
    • इससे पहले फण्ड मैनेजर किसी भी प्रतिशत से अलग अलग मार्किट कैप वाली कंपनी के शेयर मे निवेश कर सकते थे। 

    क्या करना चाहिए निवेश ?

    • इस समय के नजर के हालत को देखते हुए लम्बे समय के लिए मल्टी कैप फण्ड स्कीम मे निवेश करना काफी फायेमंद रहेगा। 
    • इस तरह के फण्ड की सबसे बड़ी खास बात ये है की आपकी रिस्क कम हो जाती है। 

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां