-->

LIC का नया पेंशन प्लान LIC जीवन शांति 858 यहाँ जाने पूरी जानकारी

LIC ने नया पेंशन प्लान LIC जीवन शांति 858 लांच किया है जीवन शांति एक नॉन लिंक्ड और नॉन पार्टिसिपेटिंग प्लान है इस प्लान मे आपको एक साथ एक ही बार प्रीमियम भरना पड़ता है इसमे आपको एन्युटी का विकल्प मिलता है। आपको बता दे की इस नए प्लान को इसी साल 21 अक्टूबर को लांच किया गया था इसके पहले LIC ने LIC जीवन शांति टेबल 850 प्लान को बंद कर दिया था लेकिन अब कुछ बदलावों के साथ इस प्लान को फिर से लांच किया गया है। 



    LIC जीवन शांति 858 नया प्लान क्या है नए बदलाव :

    • LIC जीवन शांति 858 जो की पुराने 850 प्लान को बंद करके शुरू किया गया है। 
    • यह एक सिंगल प्रीमियम एन्युटी पेंशन प्लान है जिसे आप ऑनलाइन और ऑफलाइन खरीद सकते है। 
    • पालिसी खरीदने के समय आपको एन्युटी के लिए 2 विकल्प मिलते है सिंगल और जॉइंट आप इन मे से एक को चुन सकते है। 
    • इस पालिसी मे डेफ्रेमेंट का समय होता है इस समय के बाद ही आपको पेंशन एन्युटी की राशि दी जाती है। 
    • सिंगल एन्युटी का विकल्प आप खुद के लिए ले सकते है जब की जॉइंट मे आप आपके परिवार के किसी सदस्य को भी ऐड कर सकते है। 

    LIC जीवन शांति 858 प्लान की विशेष बातें :

    • नए LIC जीवन शांति 858 प्लान की  सबसे बड़ी विशेष बात ये है की आप इस प्लान को सिंगल लाइफ या फिर जॉइंट लाइफ के विकल्प मे ले सकते है। 
    • इस प्लान को लेने के लिए आपकी कम से कम उम्र 30 साल की होना जरुरी है। 
    • वही ज्यादा से ज्यादा उम्र 79 साल तक की हो सकती है। 
    • आपको यह LIC प्लान लेने के लिए कम से कम से 1 लाख 50 हजार तक का सिंगल प्रीमियम चुनना अनिवार्य है। 
    • इसी समय प्रीमियम की राशि 1 लाख 50 हजार से ज्यादा कितनी भी चुनी जा सकती है इसके लिए कोई लिमिट नहीं है। 
    • एन्युटी का विकल्प चुनते वक़्त आपको इस प्लान मे सालाना 12 हजार तक की कम से कम एन्युटी मिलती है। 
    • आप इस पालिसी को लेने के बाद जरुरत के समय इसपर लोन भी ले सकते है। 
    • इस प्लान मे आपको एन्युटी के लिए 2 विकल्प मिलते है। 
    • यह एक गारंटीड पेंशन प्लान है जिसमे आपको डेफ्रेड एन्युटी मिलती है। 
    • यह पालिसी आप खुद ऑनलाइन भी खरीद सकते है ऑनलाइन खरीदने पर आपको पालिसी प्रीमियम पर छूट दी जाती है। 
    • इस पालिसी का कम से कम डेफ्रेमेंट का कम से कम समय 1 साल का रक्खा गया है.
    • वही डेफ्रेमेंट का ज्यादा से ज्यादा समय 12 साल का हो सकता है। 

    LIC जीवन शांति 858 प्लान के एन्युटी विकल्प :


    LIC जीवन शांति 858 प्लान के नए संस्करण मे बीमाधारक को सिंगल और जॉइंट लाइफ के 2 विकल्प दिए गए है। 

    1) सिंगल लाइफ डेफर्ड  एन्युटी विकल्प :


    A) सराइवल के समय मिलने वाला लाभ :

    • डेफ्रेमेंट के समय अगर पालिसी धारक को कुछ नहीं होता है तो इस समय मे पालिसी धारक को कोई लाभ नहीं मिलता है। 
    • लेकिन डेफ्रेमेंट के समय के बाद पालिसी धारक के जिन्दा बचने के बाद उसे एन्युटी की बची सब राशि दी जाती है यह एन्युटी की राशि उसे उसके द्वारा चुनी गए तरह से दी जाती है। 

    B) डेथ बेनिफिट लाभ :

    • डेफ्रेमेंट समय मे अगर बिमा धारक को मृत्यु हो जाती है तो उसके सारे लाभ नॉमिनी को दिए जाते है। 
    • डिफरेमेंट के समय मृत्यु के बाद एन्युटी पेमेंट को बंद करके सारे लाभ नॉमिनी को दिए जाते है। 
    • सिंगल लाइफ विकल्प मे अगर अगर पालिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तो बिमा की खरेदी कीमत और एन्युटी की बकाया राशि दी जाती है। 

    2) जॉइंट लाइफ डिफ्रेड एन्युटी का विकल्प :


    A) सराइवल के समय मिलने वाला लाभ :

    • इस विकल्प मे भी बिमा धारक के जिन्दा बचने के बाद डेफ्रेमेंट के समय मे दोनों जॉइंट एन्युटी धारक को कोई लाभ नहीं मिलता है। 
    • लेकिन डेफ्रेमेंट समय पूरा होने के बाद पालिसी समय पूरा होने पर भी बिमा धारक जिन्दा बचते है तो ऐसे समय एन्युटी की राशि उनके चुने हुए विकल्प के अनुसार दी जाती है। 

    B) मृत्यु के बाद मिलने वाले लाभ :

    • डेफ्फेमेन्ट के समय अगर जॉइंट होल्डर मे से पहले धारक की मृत्यु हो जाती है तो कोई लाभ नहीं दिया जाता है। 
    • लेकिन अगर दोनों जॉइंट होल्डर एन्युटी धारक की मौत हो जाती है तो ऐसे समय डेथ लाभ याने बिमा की खरीद राशि और कुल एन्युटी की राशि नॉमिनी को दी जाती है। 
    • डेफ्रेमेंट समय मे अगर एक बिमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो दूसरे एन्युटी धारक होने के कारन उसे एन्युटी की राशि उसके जिन्दा होने तक दी जाती है। 
    • जॉइंट लाइफ विकल्प मे दोनों एन्युटी धारक के मृत्यु के बाद उनके नॉमिनी को मृत्यु लाभ दिया जाता है। 

    इन बातो का रक्खे ध्यान :

    • अगर आप रिटायरमेंट के हेतु से इस पालिसी को लेने की सोच रहे है तो इस बात का ध्यान रक्खे की यह पालिसी आपको ज्यादा से ज्यादा 80 साल तक एन्युटी पेंशन लेने का विकल्प देती है। 
    • इसके आलावा इस पालिसी के जरिये मिलने वाली एन्युटी पेंशन की राशि आपको टैक्स भी देना पड़ता है। 
    • सबसे बड़ी आप 30 साल के बाद ही इस प्लान को ले सकते है मेरे ख्याल से रिटायरमेंट प्लानिंग 25 की उम्र से करनी चाहिए। 

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां