-->

LIC Nivesh Plus Plan No 849 – Single Premium ULIP प्लान की जानकारी

नमस्कार LIC ने २ मार्च २०२० को २ टैक्स सेविंग निवेश और बिमा ड्यूल फायदे वाले प्लान्स लांच किये है। LIC Nivesh Plus Plan No 849  एक सिंगल प्रीमियम यूनिट लिकेड इन्शुरन्स प्लान है। जिससे आप बिमा के साथ साथ निवेश का लाभ भी ले सकते है। आप इसमे ४ उप्लाभ्दा फण्ड ऑप्शंस द्वारा शेयर बाजार मे निवेश कर सकते है। कुछ ऐसे लोग होते होते है जो फाइनेंसियल साल के आखिर मे टैक्स बचने के लिए कोशिश करते है और ऐसे ही लोगो को आकर्षित करने के लिए LIC हर साल मार्च मे ऐसे नए प्लान्स लाती है। तो चलिए जानते क्या इस प्लान से सच मे आप आपका बिमा और निवेश लक्ष्य पूरा कर सकते है या नहीं।

निवेश प्लान ८४९ सौजन्य LIC 



    LIC निवेश प्लस प्लान ८४९  की विशेष बातें :

    • निवेश प्लस ८४९ प्लान  मे आपको सिर्फ एक बार प्रीमियम भरना होता है 
    • ये एक ULIP यूनिट लिंक्ड प्लान है जिससे आप म्यूच्यूअल फण्ड जैसा  निवेश और अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते है। 
    • आपको इस प्लान मे आप टैक्स को बचा सकते है। 
    • इस पालिसी मे एक बार प्रीमियम राशि भरने पर आपको पालिसी समाप्त होने पर कवरेज मिलता है। 
    • आप कम से कम १ लाख की एकमुश्त राशि से निवेश शुरू कर सकते है और ज्यादा से ज्यादा आप जितनी चाहे राशि जूता सकते है। 
    • आपको ८४९ प्लान जैसे ही ४ अलग अलग फण्ड विकल्प मिलते है। 
    • आप साल मे अलग अलग फण्ड मे पैसे रख सकते है। 
    • इस पालिसी मे ५ साल का लॉक इन समय है इसका मतलब आप ५ साल बाद कुछ राशि निकल सकते है 
    • लेकिन पालिसी मचोर होने के बाद आपकी फण्ड निवेश की पुरि राशि आपको दी जाएगी। 
    • आपको इस प्लान मे गारंटी ऑडिशन मिलता है। 
    • आपको बिमा राशि कवरेज के लिए २ विकल्प मिलते है। 


    LIC निवेश प्लस प्लान ८४९  के फायदे :


    • ये एक एकमुश्त प्रीमियम राशि प्लान है जिसमे आपको हर साल महीना या फिर तिमाही प्रीमियम भरना नहीं होता है। 
    • आप इस फण्ड मे ४ प्रकार के निवेश फण्ड के विकल्प चुन सकते है। 
    • और पालिसी के समय मे आप इन  फंड्स को बदल भी सकते है। 
    • इसमे पुलिस धारक के म्रित्यु के  बाद आपकी बिमा की राशि दी जाती है। 
    • पालिसी मचोर होने के बाद आपको अप्पके फण्ड वैल्यू राशि दी जाती है। 


    निवेश प्लॉस प्लान लेने की पात्रता :


    • कम से कम आयु ९० दिन 
    • ज्यादा से ज्यादा आयु ७० साल 


    आप इस लिंक पर जाकर प्रीमियम कैलकुलेट कर सकते है :LIC प्रीमियम कैलकुलेटर 

    LIC Nivesh Plus Plan No 849 मे निवेश के लिए उपलब्ध ४ निवेश फण्ड :


    इन ४ फण्ड की खासियत ये है की इनको रिस्क जोखिम के अनुसार निवेश राशि का प्रतिशत रक्खा गया है। 

    1. बांड फण्ड :
    2. सिक्योर्ड फण्ड :
    3. बैलेंस्ड फण्ड 
    4. ग्रोथ फण्ड 
    फण्डरिस्कसरकारी सिक्योरिटीज मनी मार्किट इंस्ट्रूमेंट्स इक्विटी
    बांड फण्डकम रिस्क 60 To 100 % निवेश0 To 40 %  निवेश_
    सिक्योर्ड फण्ड मध्यम रिस्क45 To 85 %  निवेश0 To 40 %  निवेश15 To 55 % निवेश
    बैलेंस्ड फण्डमध्यम रिस्क30  To  70 %  निवेश0 To 40 %  निवेश30 To 70 % निवेश
    ग्रोथ फण्डज्यादा रिस्की20 To 60 %   निवेश0 To 40 %  निवेश40 To 80 %  निवेश


    LIC Nivesh Plus Plan No 849 के बिमा राशि विकल्प :

    • पहला विकल्प मे आप बिमा राशि आपके प्रीमियम के १. २५ गुना तक ले सकते है। 
    • इस विकल्प मे पालिसी समय १० से २५ साल के  बिच मे होगा। 
    • दूसरे विकल्प मे आपकी बिमा राशि प्रीमियम राशि के १० गुना होगा। 
    • इसमे पालिसी का समय आपके उम्र के ऊपर निर्भर करता है। 
    • आपको इस विकल्प मे इनकम 80C के अनुसार प्रीमियम पर टैक्स लाभ मिलता है इसके आलावा मचोर होने पर उस राशि पर सेक्शन १० D के अनुसार टैक्स लाभ मिलता है। 
    उम्र  बिमा पालिसी समय 
    १० से २५  २५ साल 
    १० से २५  20 साल
    ३१ से ३५  10 साल

    LIC Nivesh Plus Plan No 849 गारंटी एडिशन :


    इस प्लान मे आपको आपके  एकमुश्त  प्रीमियम राशि पर गारंटी एडिशन मिलता है जो की जो की कुछ समय के अंतराल पर दिया जाता है और इस एडिशन को आपके फण्ड  वैल्यू मे ऐड किया जाता है।

    तराल एडिशन प्रतिशत 
    ६ साल बाद  3%
    १० साल बाद 4%
    १५ साल बाद 5%
    २० साल बाद 6%
    २5 साल बाद 7%


    LIC Nivesh Plus Plan No 849 के शुल्क :

    १ मोर्टेलिटी शुल्क :

    पालिसी शुरू होने के समय आपके आपको इस शुल्क को भरना होता है। ये शुल्क आपके बिमा कवरेज राशि अनुसार होता है। लेकिन पालिसी मचोर होने के समय आपको यह शुल्क वापिस भी मिल सकता है। 

    २  प्रीमियम एलोकेशन शुल्क :

    प्रीमियम एलोकेशन चार्जेज आपके प्रीमियम से कट किये जाते है। और शेष राशि से फण्ड यूनिट लिए जाते है। 


    ऑफलाइन सेल ऑनलाइन सेल
    ३.३ प्रतिशत १. ५ प्रतिशत 
                 

    ३ फण्ड मैनेजमेंट शुल्क :

    जैसे म्यूच्यूअल फण्ड मे आपको फण्ड मैनेजमेंट शुल्क होता है। फण्ड मैनेजमेंट आपके फण्ड वैल्यू पर सालाना १. ३५ प्रतिशत का शुल्क लिया जाता है। अगर पालिसी बंद होने पर ०. ५ प्रतिशत का शल्क लिया जाता है। 

    ४ पालिसी डिस्कन्टिन्य होने पर अतरिक्त शुल्क :

    पालिसी बंद करने पर या मतलब यूनिट फण्ड के यूनिट कैंसिल करने पर कुछ शुल्क लिया जाता है। 
    • अगर आप पहले साल हि पालिसी बंद करते है तो आपको ज्यादा से ज्यादा ३ हजार का शुल्क देना होगा। 
    • २ रे साल मे बंद करने पर सालाना प्रीमियम के १५ प्रतिशत या फिर २ हजार का शुल्क लगेगा। 
    • ३ रे साल मे आपको १० प्रतिशत या फिर १५०० शुल्क देना होगा। 
    • ४ थे साल मे आपको ५ प्रतिशत या फिर ज्यादा से ज्यादा १ हजार शुल्क लगेगा। 
    • ५ साल या फिर उसके बाद आपको कोई अतरिक्त शुल्क नहीं देना पड़ेगा। 
    ५ फण्ड स्विच शुल्क :

    एक फण्ड प्रकार से दूसरे मे स्विच करने पर आपको १०० रुपये शुल्क लगेगा। 

    ६ आंशिक राशि निकासी :

    आहार आप आपके फण्ड से कुछ यूनिट कैंसिल करते है तो उसके लिए आपको १०० रुपये शिल्क लगेगा। 


    क्या आपकोये प्लान लेना चाहिए ?


    इस पालिसी का निर्माण सैलरी प्रोफाइल लोगो के लिए किया गया है जो लोग बिमा और निवेश दोनों को करना चाहते है। इससे उनको टैक्स मे छूट पाने मे भी मदत मिलती है। और वित्तीय साल ख़तम होने के पहले ऐसे फण्ड मे निवेश  सैलरी कर्मचारी के लिए अच्छा रह सकता है।आपको इस पालिसी को लेने के के बाद सिर्फ एक बार एकमुश्त प्रीमियम राशि भरनी होती है।  इस प्लान मे आपको ४ निवेश फण्ड विकल्प दिया गए है आप फण्ड को बदल भी सकते है इसके आलावा गारंटी एडिशन भी मिलता है लेकिन अगर आप बाकि अतरिक्त शुल्क देखेंगे तो बोहोत ज्यादा लगता है और शेयर बाजार से लिंक्ड होने  के कारन जोखिम भी बढ़ जाती है। मुझे लगता है की आपको इस प्लान से ज्यादा रिटर्न नहीं मिल सकती। 

    एक टिप्पणी भेजें

    0 टिप्पणियाँ