-->

3 साल पुरे होने पर LIC बंद करनी हो तो कैसे करे सरेंडर यहाँ जाने पूरी जानकारी

LIC की पालिसी होना लोग अच्छा समझते है इस लिए लोग अपने एजेंट के पास जाकर बिना ज्यादा जानकारी लिए LIC पालिसी खरीद लेते है। LIC पालिसी लेना कई लोग एक निवेश मानते है इसके लिए वो सिर्फ ऐसी पालिसी खरीद लेते है जिसमे पैसे रीटर्न मिलते है। लेकिन कुछ महीने बाद उनको पता चलता है की उनके LIC पालिसी का उनके लिए ज्यादा लाभ नहीं मिल रहा है। ऐसा नहीं की सभी लोग ऐसे करते है और है LIC पालिसी भी अच्छी नहीं होती है ऐसे बात नहीं होती है सिर्फ वह पालिसी उस आदमी के लिए सूट नहीं करती है। इस हालत मे आप पालिसी के 3 साल पुरे होने के बाद पालिसी को मचोरिटी के पहले सरेंडर कर सकते है। 


    LIC पालिसी सरेंडर करने का मतलब :(What Is LIC Policy Surender)

    • LIC की तरफ से बिमा पालिसी की मचोरिटी के पहले बिमा पालिसी को समाप्त करने का सरेंडर एक विकल्प है। 
    • इस तरह से बिमा पालिसी को सरेंडर करने के बाद बिमा धारक को कुछ राशि वापिस मिलती है जिसे सरेंडर राशि कहते है। 
    • LIC पालिसी को सरेंडर करने के लिए आपके पालिसी के 3 साल पुरे होना जरुरी है। 
    • इसी समय आपने आपके LIC पालिसी के पहले 3 साल के सभी प्रीमियम पूरी तरह से भरे होना भी जरुरी है। 
    • यह सभी पात्रता पूरी होने के बाद आप पालिसी को सरेंडर कर सकते है जिसपर कुछ अतरिक्त बोनस और आपकी प्रीमियम की राशि दी जाती है। 

    LIC पालिसी सरेंडर करने पर कैसे किया जाता है पेमेंट :(Types  Of Policy Surender)


    LIC पालिसी सरेंडर करते समय LIC सरेंडर कीमत को निश्चित करती है जिसके लिए इस समय 2 प्रकार है। 

    1 गारंटीड सरेंडर वैल्यू :(Gurented Surender Value)

    • गारंटीड सरेंडर वैल्यू विकल्प के अनुसार बिमा धारक पालिसी लेने के बाद 3 साल बाद ही पालिसी सरेंडर विकल्प चुन सकता है। 
    • इस विकल्प को लेने के लिए पालिसी धारक को पहले 3 साल का पूरा प्रीमियम भरना जरुरी है। 
    • इस विकल्प के तहत आप जितना लेट पालिसी को सरेंडर करेंगे उसकी कीमत भी उतनी ही बढ़ेगी। 
    • इसका कारन अगर आप ३ साल  बाद सरेंडर करते है तो सरेंडर की राशि आपके प्रीमियम राशि के 30 फीसदी तक होगी जिसमे जिसमे पहले साल का प्रीमियम शामिल नहीं होगा।
    • ऐसा समझा लीजिये की आपकी हर साल की प्रीमियम राशि 50 हजार रुपये है और आपने 3 साल का प्रीमियम भरा है। 
    • इसका मतलब आपने कुल 1  लाख 50 हजार का प्रीमियम भरा है। 
    • जिसमे अब पहले साल का प्रीमियम नहीं पकड़ा जायेगा मतलब सिर्फ 1 लाख रह गए। 
    • अब इस 1 लाख के ऊपर आपको 30 फीसदी सरेंडर राशि मिलेगी। 
    • 1 लाख के ऊपर 30 फीसदी मतलब कुल 30 हजार रुपये आपको वापिस मिलेंगे। 

    2) स्पेशल सरेंडर वैल्यू :(Special Surender Value)


    अ) पेड अप वैल्यू :(Paid Up Value)

    • जब आप कुछ समय बाद प्रीमियम भरना बंद कर देते है तब पालिसी आगे बढ़ती है लेकिन पालिसी की बिमा राशि कम हो जाती है। ो(इस विकल्प को स्पेशल सरेंडर वैल्यू कहा जाता है। 
    • ऐसे पालिसी को सरेंडर करते समय जितना प्रीमियम भरा हुआ होता है उसे पेड आप वैल्यू कहा जाता है। 
    • पेड अप वैल्यू मे पालिसी आगे जारी रहती है और मचोरोटी या बीमाधारक के मौत के समय पेड अप राशि को वापिस दिया जाता है। 

    ब) सरेंडर वैल्यू :(Surender Value)

    • प्रीमियम भरना बदन करने के कुछ समय बाद आप पालिसी को सरेंडर करते है तो इसमे सरेंडर वैल्यू दी जाती है। 
    • जिसके बाद पालिसी पूरी तरह से बंद हो जाती है। 

    LIC पालिसी सरेंडर करने का सही समय :(LIC Policy Surender Time)

    • LIC पालिसी खरीदते समय आपको उसके दस्तावेज दिए जाते है जैसे की बांड पेपर। 
    • इस दसतवज पर पालिसी सरेंडर करने के का समय और अन्य जानकारी दी जाती है जो की हर एक पालिसी की अलग होती है। 
    • सिंगल प्रीमियम याने एकमुश्त प्रीमियम पालिसी मे आप पालिसी के दूसरे साल पालिसी को सरेंडर का सकते है। 
    • वही रेगुलर प्रीमियम प्लान के विकल्प मे आपके पालिसी के समय के अनुसार होता है जो की साधारण 3 साल का होता है। 

    LIC पालिसी सरेंडर करने के लिए  जरुरी दस्तावेज :(Required Documents)

    • LIC पालिसी सरेंडर करने के लुए आपके पालिसी बांड के असली दस्तावेज होने चाहिए। 
    • LIC सरेंडर फॉर्म 5074 
    • LIC पालिसी बंद करने का कारन का लेटर 
    • LIC NEFT फॉर्म 
    • बैंक खता पासबुक 
    • LIC सरेंडर वैल्यू रिक्वेस्ट आवेदन 
    • आपका असली एड्रेस और आय डी प्रूफ 

    LIC पालिसी सरेंडर करने की प्रोसेस :(Surendering Process)

    • पालिसी सरेंडर की पूरी प्रोसेस इस समय ऑफलाइन ही है। 
    • इसके लिए आप आपके पालिसी एजेंट से संपर्क कर सकते है या फिर सीधे आपके ब्रांच मे जा सकता है। 

    क्या फायदेमंद होता है पालिसी सरेंडर विकल्प ?(Is It Worth)

    • LIC पालिसी सरेंडर करने से आप उस पालिसी से मिलने वाले कई लाभ गवा देते है। 
    • ऐसे समय ज्यादा प्रीमियम भरकर आपको कम राशि वापिस मिलती है। 
    • हलाकि अगर आप प्रीमियम आगे भर नहीं पा रहे हो और आपातकालीन हालत मे पैसे जमा करने का कोई अन्य विकल्प ना हो तो आप इस विकल्प को अपना सकते है। 

    एक टिप्पणी भेजें