-->

LIC की नयी हेल्थ इन्शुरन्स पालिसी LIC Arogya Rakshak Plan 906 यहाँ जाने क्या है खास ?

LIC ने नयी हेल्थ इन्शुरन्स पालिसी को लांच किया है जिसका नाम है LIC आरोग्य रक्षक प्लान 906 यह आरोग्य बिमा पालिसी एक नॉन लिंक्ड नॉन पार्टिसिपेटिंग  प्लान है। इस पालिसी मे एक रेगुलर प्रीमियम भरने पर तय किये गए हेल्थ इन्शुरन्स लाभ दिए जाते है। पालिसी के तहत अस्पताल मे भर्ती होने के बाद का खर्चा ऑपरेशन का खर्चा कवर किया जाता है। इसके आलावा इस नए पालिसी मे ऐसे अन्य लाभ शामिल है जो इस पालिसी को काफी अलग बनाते आइये जानते पालिसी के बारे मे पूरी जानकारी। 


    LIC आरोग्य रक्षक पालिसी की खास बातें :(LIC Arogya Rkashak Policy Features)

    • यह पालिसी एक नॉन लिंक्ड नॉन पार्टिसिपेटिंग इन्शुरन्स पालिसी है जिसे एक साधारण हेल्थ इन्शुरन्स के तरह कोई भी आदमी खरीद सकता है। 
    • बाकि पालिसी की तरह इस पालिसी मे फॅमिली फ्लोटर का विकल्प है जिससे आप आपके आलावा आपके परिवार के अन्य सदस्य का इस पालिसी मे नाम जोड़ सकते है। 
    • इस पालिसी मे धारक को हॉस्पिटल कॅश लाभ ,सर्जरी का खर्चा ,हर दिन के इलाज का खर्चा और अन्य मेडिकल सहायता का खर्चा कवर होता है। 
    • इसी समय इस प्लान के तहत पहले से तय की गयी राशि आपको अस्पताल खर्चा और सर्जरी के लिए दी जाती है जो की असली खर्चे से अलग होती है। 
    • पालिसी के तहत अगर अस्पताल मे ज्यादा दिन रहना पड़ता है तो भी खर्चे को कवर किया जा सकता है 
    • इसी समय पालिसी मे दिए गए राइडर के विकल्प इस्तेमाल करके आप पालिसी का ज्यादा लाभ ले सकते है 

    LIC आरोग्य रक्षक प्लान की पात्रता :(LIC Arogya Rakshak Plan Eligibility)

    • इस पालिसी को लेने के लिए धारक की कम से कम उम्र 18 साल होना जरुरी है। 
    • वही ज्यादा से ज्यादा उम्र 65 साल तक की हो सकती है। 
    • पालिसी  खरीदने के लिए जरुरी दस्तावेज आपके पास मौजूद होने चाहिए। 

    LIC आरोग्य रक्षक पालिसी के तहत मिलने वाले लाभ :((LIC Arogya Rakshak Plan Benifit)


    १) हॉस्पिटल कॅश लाभ :(Hospital Cash Benifit)

    • इस लाभ के तहत बीमारी  के समय अस्पताल मे भर्ती करने के बाद दिया जाता है। 
    • हलाकि इस लाभ को आपको तब ही दिया जाता है जब आप अस्पताल मे २४ घंटे या उससे ज्यादा रखा जाता है
    • इसमे अगर आपको जनरल या फिर  स्पेशल वार्ड मे रक्खा जाने के बाद २४ घंटे पुरे होते है तो हर दिन कॅश का लाभ दिया जाता है। 
    •  इसी समय अगर ICU मे भर्ती किया जाता है और अगर २४ घंटे से ज्यादा रक्खा जाता है तो हर दिन का लाभ दोगुना दिया जाता है। 
    • इस पालिसी के तहत मिलने वाला कॅश लाभ आपको तब ही मिलता है जब आप भारत के अस्पताल मे भर्ती हो। 
    • पालिसी लेने के बाद पहले साल के लिए दिए जाने वाले कॅश लाभ ३० दिन तक हो सकता है। 
    • वही उसके बाद के वर्षो मे 90 दिनों तक हर दिन का कॅश लाभ दिया जा सकता है। 
    • पूरी पालिसी समय मे यह कॅश लाभ ज्यादा से ज्यादा 900 दिनों तक दिया जा सकता है। 

    2) गंभीर सर्जरी लाभ :(Major Surgery Benifit)

    • पालिसी कवर के समय अगर पालिसी की गंभीर सर्जरी करनी पड़ती है तो उसका लाभ मेजर सर्जिकल लाभ के तहत दिया जाता है। 
    • इसके तहत मिलने वाला लाभ हॉस्पिटल कॅश लाभ के १०० गुना होता है फिर भी मिलने वाला लाभ सर्जेरी के टाइप पर निर्भर करेगा। 
    • इसी समय LIC द्वारा दी गया लिस्ट मे शामिल होने वाली सर्जेरी के लिए यह लाभ दिया जाता है। 
    • इस विकल्प के तहत मौजूद सर्जरी की जानकारी आप इस लिंक पर जाकर देख सकते है। 
    • यह सर्जरी भी भारत के किसी अस्पताल मे होना जरुरी है। 
    • एक से ज्यादा गंभीर सर्जरी होने पर सिर्फ सबस  गंभीर सर्जरी पर यह लाभ दिया जायेगा। 
    • पालिसी के 1 साल मे यह लाभ 100 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकता। 
    • इस लाभ के तहत पालिसी मे एम्बुलेंस लाभ ,प्रीमियम छूट लाभ जैसे लाभ भी दिए जाते है। 

    3) ज्यादा समय तक अस्पताल मे भर्ती लाभ :(Extended Hospitalsation Benifit)

    • अगर पालिसी धारक को इलाज के लिए 30 दिन से ज्यादा अस्पताल मे भर्ती कराया जाता है तो यह लाभ दिया जाता है। 
    • यह लाभ हॉस्पिटल कॅश लाभ ,गंभीर सर्जरी लाभ से अलग होता है। ,
    • हलाकि यह पालिसी के 1 साल मे सिर्फ एक ही बार प्राप्त किया जा सकता है। 
    • वही पुरे पालिसी मे रह लाभ 10 बार लिया जा सकता है। 

    4 ) डे केयर प्रोसीजर :(Day Care Procudure)

    • पालिसी दस्तावेज के मुताबिक धारक को बीमारी के समय डे केयर प्रोसेस को की जरुरत होने पर यह लाभ दिया जाता है। 
    • यह लाभ हॉस्पिटल कॅश बेनिफिट के 5 गुना तक दिया जा सकता है। 
    • हलाकि यह प्रोसेस भारत मे होने पर भी यह लाभ दिया जाता है। 
    • एक पालिसी साल मे यह लाभ सिर्फ 3 बार लिया जा सकता है। 
    • इसी समय पुरे पालिसी समय मे यह लाभ 30 से  ज्यादा बार नहीं लिया जा सकता। 

    5) मेडिकल मैनेजमेंट लाभ :(Medical Management Benifit)

    • इस पालिसी के तहत अगर बिमा धारक को डेंगू ,मलेरिआ ,न्युमोनिआ जैसे बीमारिओवो से अस्पताल मे भर्ती करने पर यह लाभ दिया जाता है। 
    • यह लाभ डेली कॅश बेनिफिट के 2.5 गुना तक एक मुश्त दिया जाता है। 

    6 ) अन्य सर्जिकल लाभ :(Other Surgical Benifit)

    • इस पालिसी के तहत अगर बिमा धारक की कोई ऐसी सर्जरी करनी पड़ती है जो की लिस्ट मे शामिल ना हो तो उसका लाभ इस विकल्प के तहत लिया जा सकता है। 
    • यह लाभ भी हर दिन कॅश लाभ के 2.5 गुना तक दिया जा सकता है। 

    7) नो क्लेम लाभ :)No Claim Benifit)

    • अगर इस पालिसी के तहत 3 साल के लिए कोई क्लेम दावा नहीं किया जाता है तो नो क्लेम लाभ के तहत 5 फीसदी रोजाना कॅश लाभ दिया जाता है। 
    • यह लाभ आपके डेली कॅश लाभ मे 3 साल पुरे होने पर ऐड किया जाता है। 

    8) हेल्थ चेक अप लाभ :(Health Chcek Benifit)

    • इस पालिसी के तहत हेल्थ चेक अप लाभ भी दिया जाता है 
    • यह लाभ चेक अप के पुरे खर्चे पर दिया जाता है जो को रोजाना कॅश लाभ के आधा हो सकता है। 
    • यह लाभ पालिसी 3 साल मे एक बार दिया जाता है। 
    • यह लाभ प्राप्त करने के लिए पालिसी धारक को हेल्थ चेक अप की मेडिकल कॉपी जमा करना होता है। 

    क्या लेनी चाहिए LIC की आरोग्य रक्षक पालिसी :(Shpuld You Take )

    • इस हेल्थ इन्शुरन्स पालिसी की खास बात यह है की इसमे अस्पताल मे भर्ती होने के बाद अलग अलग तरह खर्चे के लिए अलग अलग लाभ विकल्प दिए गए है। 
    • इसी समय आम तौर पर हर एक पालिसी का प्रीमियम रिव्यु याने प्रीमियम की राशि बदलने का समय 5 साल का होता है लेकिन LIC ने इस पालिसी के यह समय 3 साल रक्खा है इसका मतलब 3 साल बाद पालिसी का प्रीमियम बढ़ सकता है। 
    • इसके आलावा पालिसी पर मिलने लाभ कैशलेस नहीं है मतलब आपको पहले पैसे भरने होंगे और उसके बाद उसका क्लेम आवेदन करना होगा जो की बोहोत समय लेता है। 
    LIC आरोग्य रक्षक पालिसी प्लान 906 पूरी जानकारी हिंदी मे 

    एक टिप्पणी भेजें