-->

Tax Free Bond क्या होते है और कैसे करे टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश ?

Tax Free Bond के नाम से ही आप अंदाज़ा लगा सकते है की ये एक ऐसा निवेश विकल्प है जिसमे निवेश के रिटर्न पर टैक्स नहीं देना पड़ता। इस निवेश विकल्प मे काफी कम रिस्क होती है.ज्यादातर सरकारी निवेश  इंस्ट्रूमेंट बॉन्ड टैक्स  फ्री होते है। यह निवेश विकल्पउन लोगो के लिए  काफी अच्छा है जो सुरक्षित और टैक्स फ्री दोनों तरह की रिटर्न प्राप्त करना चाहते है। इसमे एक निश्चित रिटर्न होने के कारन शेयर बाजार जितनी रिस्क नहीं होती है वही सरकारी बॉन्ड पर सॉवरेन गारंटी मि मिलती है। 



क्या है टैक्स फ्री बॉन्ड ?(What Is Tax Free Bond)

  • इस टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश करने पर मिलने वाले रिटर्न पर जीरो टैक्स लिया जाता है। 
  • इन टैक्स फ्री बॉन्ड की सबसे बड़ी खासियत इन्हे सरकार की तरफ से जारी किया जाता है जो काफी सुरक्षित निवेश माना जाता है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश  करने के बाद निवेशक को एक तय ब्याजदर पर ब्याज दिया जाताह है। 
  •  टैक्स फ्री बॉन्ड और फिक्स्ड डिपाजिट निवेश काफी मिलते जुलते है जिसमे एक तय राशि जमा करने पर तय दरों पर ब्याज दिया  जाता है और मचोरिटी के समय मूल राशि को वापिस  दिया जाता है। 
  • हलाकि इस निवेश पर फिक्स्ड डिपाजिट जैसा टैक्स नहीं देना पड़ता है टैक्स फ्री बॉन्ड पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री है। 
  • इसी समय अगर आप कैपिटल बॉन्ड को किसी दूसरे को बेचकर मुनाफा कमाते है तो  इसपर आपको कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ेगा। 
  •  टैक्स फ्री बॉन्ड छोटे टैक्स ब्रैकेट वाले निवेशकको के लिए लाभदायक नहीं है इसमे सिर्फ बड़े टैक्स ब्रैकेट वाले निवेशक लाभ ले सकते है। 
  • ज्यादा इनकम होने वाले लोग ,ट्रस्ट ,निवेश करके टैक्स बचा सकते है। 

कैसे चुने सबसे अच्छा टैक्स फ्री बॉन्ड :(How To Select Best Tax Free Bond)

  • टैक्स फ्री बॉन्ड निवेश करते समय सबसे पहले आपको उस बॉन्ड की लिक्विडिटी चेक करनी चाहिए। 
  • अगर आप लम्बे समय तक निवेश करना चाहते है तो इससे कुछ फ्रक नहीं पड़ता है। 
  • लेकिन शार्ट टर्म निवेश के लिए बॉन्ड चुनते समय इसे सेकेंडरी मार्किट मे बेचा जा सकता है या नहीं देखना जरुरी है। 
  • बॉन्ड निवेश को चुनते समय उस बॉन्ड ने एक साल मे कितनी रिटर्न दी है चेक करना जरुरी है। 
  • टेक्नीकल भाषा मे YTM को आपको देखना है जो  निवेश के बाद मचोरिटी तक होल्ड करने से मिलने वाले वार्षिक रिटर्न को दर्शाता है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड निवेश लॉक इन समय के साथ होते है ऐसे मे आप सबसे कम लॉक इन समय वाले बॉन्ड को चुन सकते है। 
  • इसके बाद आपको उस बॉन्ड के हाल के स्टेटस और क्रेडिट रेटिंग को देखना चाहिए। 
  • इन बातो को सामने रखते हुए आप टैक्स फ्री बॉन्ड निवेश कर सकते है। 

टैक्स फ्री बॉन्ड की खास बातें :(Features Of Tax Free Bond)

  • टैक्स फ्री बॉन्ड को डीमैट खाते के जरिये ख़रीदा जा सकता है सरकार के द्वारा ऑफर खोलने के बाद डीमैट खाते  के जरिए बॉन्ड ख़रीदे  जा सकते है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड को 1 हजार के फेस वैल्यू पर  जारी किया जाता है। 
  • इसी समय फिजिकल पेपर फॉर्म मे भी टैक्स फ्री बॉन्ड लिए जा सकते है। 
  • टैक्स फ्री बांड छोटे समय के निवेश के लिए सेकेंडरी मार्किट से ख़रीदा और बेचा जा सकता है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड निश्चित रिटर्न की गारंटी के साथ आते है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड मे एक तय ब्याजदर होता है जिसे कूपन रेट कहा जाता है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश का समय काफी लम्बा होता है बॉन्ड  निवेश मे 10 से 15 साल के लॉक इन समय होता है। 
  • टैक्स फ्री बॉन्ड सरकारी कम्पनिया जारी करती है इंडियन रेलवे ,रस्ते विकास प्राधिकरण ,जैस डिपार्टमेंट या कम्पनिया। 

बेस्ट टैक्स फ्री निवेश बॉन्ड :(Best Tax Free Bonds)


1 HUDCO टैक्स फ्री बॉन्ड :(HUDCO Tax Free Bond)
  • सरकारी  कंपनी हाउसिंग एंड अर्बन डेवलप्मेंट कारपोरेशन जो मकान बनाने के लिए आर्थिक सहायता देती है। 
  • इस बॉन्ड मे इस समय 8.2 फीसदी का ब्याज मिल रहा है। 
  • इस निवेश मे हर साल मार्च मे ब्याज की राशि दी जाती है। 
  • क्रेडिट एजेंसी ने इस बॉन्ड को AAA रेटिंग दी है। 
2 NABARD टैक्स फ्री बॉन्ड :(NABARD Tax Free Bond)
  • ये भी एक संस्था है जो देश के कृषि और ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए काम करती है। 
  • क्रेडिट एजेंसी द्वारा इस बॉन्ड निवेश को AAA रेटिंग प्राप्त है। 
  • वही इस समय बॉन्ड निवेश मे मिलने वाली ब्याजदर 7.64 फीसदी है। 
3 NHAI टैक्स फ्री बॉन्ड :(NHAI Tax Free Bond)
  • ये सरकरी कंपनी नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया की तरफ से जारी किये जाते है। 
  • इस सरकारी  कंपनी द्वारा  देश के रोड ट्रॉन्सपोर्ट का विकास किया जाता है। 
  • इस समय इस बॉन्ड को AAA रेटिंग प्राप्त है। 
  • NHAI टैक्स फ्री बॉन्ड इस समय 8.75 फीसदी के दर से ब्याज दे रहा है। 

अक्सर पूछे जानने वाले सवाल :(FAQ)


1 टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश टैक्स फ्री कैसे है ?
  • टैक्स फ्री बॉन्ड पर मिलने वाले ब्याज पर इनकम टैक्स नियम के सेक्शन 10 के तहत टैक्स  लाभ मिलता है। 
2 टैक्स फ्री बॉन्ड मे कब देना पड़ सकता है टैक्स ?
  • टैक्स फ्री बॉन्ड मे निवेश करने के बाद मिलने वाला ब्याज टैक्स फी होता है। 
  • लेकिन अगर आपने इस टैक्स फ्री बॉन्ड को मचोरिटी के पहले सेकेंडरी मार्किट मे बेच दिया तो आपको इसपर कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ता है। 
  • वही बॉन्ड को मचोरिटी समय तक होल्ड करने पर कोई टैक्स नहीं लगता है। 
कौन सी कम्पनिया टैक्स फ्री बॉन्ड जारी  करती है ?
  1. रूरल एलेक्ट्रफिकेशन कारपोरेशन (REC )
  2. नेशनल बैंक फॉर अग्ग्रिकल्चर एंड  डेवलप्मेंट (NABARD)
  3. इंडिया इंफ्रास्ट्रचर फाइनेंस कंपनी (IIFCL )
  4.  हाउसिंग एंड अर्बन डेवलप्मेंट कारपोरेशन (HUDCO )
  5. पावर फाइनेंस कारपोरेशन (PFC)
टैक्स फ्री बॉन्ड को सेकेंडरी मार्किट मे कैसे बेचे ?
  • निवेश किये गए टैक्स फ्री बॉन्ड को मचोरिटी के पहले सेकेंडरी मार्किट मे बेचा और ख़रीदा जा सकता है। 
  • निवेशक डीमैट और ट्रेडिंग खाते के जरिये इन बॉन्ड को खरीद और बेच सकते है। 
  • सेकेंडरी मार्किट मे इन बॉन्ड की कीमत फेस वैल्यू से कम या फिर ज्यादा याने प्रीमियम या फिर डिस्काउंट पर हो सकती है। 

क्या करना चाहिए निवेश ?(Should You Invest)

  • ज्यादा इनकम टैक्स ब्रैकेट वालो के लिए लम्बे समय निवेश और टैक्स बचाने का यह सबसे बढ़िया विकल्प है। 
  • हलाकि छोटे निवेशक और 20 फीसदी से कम टैक्स ब्रैकेट होने वालो के लिए यह निवेश विकल्प इतना ज्यादा लाभ दायक नहीं है। 
  • कुछ निवेशक इसे खरीदकर सेकेंडरी मार्किट मे बेचकर मुनाफा कमाते है जिसपर कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ता है।

एक टिप्पणी भेजें