-->

Ayushman Bharat Yojana आयुष्मान भारत योजना की पूरी जानकारी हिंदी मे

आयुष्मान भारत योजना कई लोग इसे प्रहदान्म्य प्रधानमंत्री जान आरोग्य योजना के नाम से भी जानते होंगे। इस योजना का उद्देश्य जो लोग आर्थिक रूप से पिछड़े है उनके लिए अच्छी आरोग्य सुविधा बिलकुल मुफ्त मे देना। इस योजना की शुरवात २३ सितम्बर २०१८ को हुई इस योजना के तहत लगभग २० हजार अस्पताल रजिस्टर किये गए है। और लगभग ११ करोड़ इ हेल्थ कार्ड्स दिए गए है। इ कार्ड आधार कार्ड जैसे ही होता जिससे आप रेजिस्ट्रेड अस्पताल मे कैशलेस ट्रीटमेंट कर सकते है। इस योजना के तहत आपको ५ लाख तक का फॅमिली हैल्थकारे सुरक्षा मिलती है। आमतौर पर इस योजना मे शहर और गांव ऐसे २ पार्ट है और इनके आधार पर आपकी योजना की पात्रता और बेनिफिट तय होते है। इस योजना का नाम अब बदल कर प्रधान मंत्री जान आरोग्य योजना कर दिया है इसलिए मे यहाँ इस नाम से आपको जानकारी दूंगा।



    जन आरोग्य योजना के फायदे :(आयुष्मान भारत योजना )

    • लोन लेने की जरुरत नहीं पड़ती है। 
    • सरकारी होने के कारन सबसे विश्वसनीय। 
    • ५ लाख तक का बिमा कवर 
    • निजी अस्पतालों मे भी फ्री मे इलाज करने की सुविधा। 
    • जिन बीमारों को इस योजना मे शामिल किया गया है अस्पताल उन पर इलाज करने से इंकार नहीं कर सकते। 


    शहरी भाग मे जान आरोग्य योजना :


    वैसे आमतोर पर बोहोत सारे लोग खुद आरोग्य बिमा निकलते है लेकिन फिर भी कुछ ऐसे लोग है जो शहरी भाग मे जरूर रहते है लेकिन उनकी आर्थिक हालत ऐसे नहीं होते की वो हेल्थ विमा खरीद सके इस ऐसी स्तिथि पर वो लोन निकलना या फिर रिश्तेदारों से पैसे लेना ऐसे करते है। और ऐसे लोगो की मदत करने के लिए प्रधान मंत्री जान आरोग्य का प्रावधान किया गया है।

    ग्रामीण भाग मे जन आरोग्य योजना :

    शहर के मुकाबले ग्रामीण भाग मे आरोग्य बिमा लेने की संख्या बोहोत कम है। अगर ज्यादा बड़ी बीमारी हो तो लोग सीधा लोन लेने की सोचते है। ऐसे मे इन लोगो को भी ५ लाख तक का आरोग्य कवर मिलता है।

    ग्रामीण भाग मे इस योजना के लिए जरुरी पात्रता :


    • जिन परिवारों मे १६ से लेकर ५९ के बिच के उम्र एक भी सदस्य न हो। 
    • अनुसूचित जाती और अनुचित जन जाती। 
    • आदिवासी लोग 
    • खुद की जमीन न होने वाले लोग जो मजूरी करकर पेट भरते है। 
    • ऐसा परिवार जिसमे कोई एक आदमी विकलांग है। 
    • ऐसा परिवार जिनके पास पक्का घर नहीं है। 
    • खेती के आलावा अन्य जगह पर काम करने वाले कामगार। 
    • कैशलेस और पेपरलेस इ कार्ड द्वारा बिमा सेवा 
    • इस योजना के आलावा अस्पताल आप से कोई अतिरक्त शुल्क नहीं ले सकता। 
    • आप इस सेवा का लाभ भारत मे कही भी ले सकते है। 
    • १४५५५ इस नंबर पर कॉल कर ग्राहक सेवा से बात कर सकते है। 


    शहर भाग मे योजना का हिस्सा बनाने की जरुरी पात्रता :


    • छोटे कारोबार मे काम करने वाले शिपाई ,खुद का छोटा शॉप होनेवाले दुकानदारः ,वेटर ,डिलीवर बॉय का काम करने वाले लोग। 
    • कूड़ा उठाने वाले और भिकारी। 
    • लोकल परिवाह मे काम कारण वाले कंडकटरेस,पुराणी रिक्शा चलें वाले ,ड्राइवर्स ,इस योजना का हिस्सा बन सकते है। 
    • घरो मे काम करने वाले नौकर घर का माली ,बच्चे की देखभाल करनेवाली आया। 
    • फुटपाथ पर अपना माल बेचने  वाले फेरीवाले। 
    • बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन मे काम करनेवाले कामगार। 
    कौन कौन से लोग इस योजना का हिस्सा नहीं बन सकते ?

    • अगर आपकी खेती है और आपके पास उसके लिए अच्छे मशीन हो तो आप योजना के लिए पत्र नहीं है। 
    • सरकारी नौकरी करने वाले लोग। 
    • ५ एकर से ज्यादा जमीन होने वाले लोग 
    • पक्के घर होने वाले परिवार। 
    • महीने मे १० हजार से ज्यादा कमाने वाले लोग 
    • ऐसे परिवार जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड है।
    • ऐसे परिवार जिनका फिशिंग का व्यवसाय हो और उनके पास अच्छी नाव हो। 
    आयुष्मान भारत (जन आरोग्य  योजना के लिए रजिस्टर कैसे करे ?

    आयुष्मान भारत  योजना के लिए आपको अलग से कोई रजिस्ट्रेशन नहीं करना पड़ता है। SECC और RSBY (राष्ट्रीय स्वस्थ बिमा योजना )के अनुसार पात्र है उनको इस योजना का लाभ मिलता है इसके लिए आपको सिर्फ चेक करना पड़ता है की आपका नाम लिस्ट मे है या नहीं। 


    • उसके बाद उपर दिए गए I Am Eligible के विकल्प पर क्लिक करना है। 
    • एक नए पेज ओपन होगा उसपर आपको मोबाइल नंबर और कॅप्टचा कोड डालने के बाद otp से वेरिफीय करना है। 

    • उसके बाद एक और पेज ओपन होगा उसपर आपका राज्य चुनकर आपको जिस प्रकार से ठीक लगे वैसे उस विकल्प को चुनकर उसके डिटेल्स जानकर सबमिट करना है। 

    • अगर आपके दिए गए जानकारी मैच होती है तो आपका परिवार इस योजना का हिस्सा है ऐसा साबित होगा। 
    • इसके आलावा आप आयुष्मान भारत योजना के कॉल सेण्टर मे भी संपर्क कर सकते है। उनका नंबर है १८०० १११ ५६५ जो की टोल फ्री है। 
    सौजन्य :आयुष मन भारत योजना अधिकृत वेबसाइट 

    आयुष्मान भारत योजना मे पेशेंट का इ कार्ड कैसे ले ?

    एक बार आप इस योजना के लिए पात्र होने के बाद आपका वेरिफिकेशन आधार कार्ड द्वारा चेक किया जाता है। और आपके पास राष्ट्रीय स्वस्थ बिमा योजना का कार्ड होगा तो बात और भी आसान हो जाती है। इसके बाद आपका इ कार्ड प्रिंट किया जाता है। इसके साथ आपको PMJAY का का एक आयडी नंबर भी मिलता है जिससे आप कभी भी इसका उपयोग कर सकते है।

    सौजन्य :आयुष मन भारत योजना अधिकृत वेबसाइट 


    आयुष्मान भारत योजना के तहत अस्पताल मे भर्ती करने की और क्लेम पाने की प्रक्रिया :

    • अस्पताल मे दाखिल होने के बाद PM JAY सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करके आपक योजना के लिए पात्र है या नहीं चेक किया जाता है। 
    सौजन्य :आयुष मन भारत योजना अधिकृत वेबसाइट 

    • उसके बाद आपके आधार कार्ड और फॅमिली आयडी प्रूफ को चेक किया जाता है। 
    • उसके बाद आपके आयुष्मान भारत योजना मे अवेलेबल बैलेंस के अनुसार पैकेज चुना जाता है। 
    • ट्रीटमेंट के लिए जरुरी सभी दस्तावेज सबमिट किया जाते है। 
    • उसके बाद जरुरी ट्रीटमेंट दी जाती है। 
    • डिस्चार्ज देने के बाद का दस्तावेज सबमिट किया जाते है। 
    • उसके बाद अस्पताल क्लेम की रिक्वेस्ट देता है। 
    •  बाद मे अस्पताल को क्लेम की राशि मिल जाती है। 
    • इस योजना मे हेल्थ कार्ड बनाने के लिए आयुष्मान मित्र होते है। 
    • अगर आपको पहले से कोई बीमारी है तो बाकि निजी बिमा कम्पनिया जैसे वेटिंग पीरियड तक रुकने की जरुरत नहीं पड़ती आप सीधा इलाज करा सकते है। 
    • फॅमिली के किसी भी सदस्य को इस योजना का लाभ मिल सकता है। 
    सौजन्य :आयुष मन भारत योजना अधिकृत वेबसाइट 

    गंभीर बीमारिया जिनका आयुष्मान भारत योजना मे शामिल है। 


    इस योजना मे आपको ५ लाख आपके परिवार को हेल्थ कवर मिलता है। इस योजना मे अगर आपको पहले से कोई बीमारी हो तो उसका भी इलाज कर सकते है उसके अलाबा आप १ दिन के लिए भी भर्ती होते हो तो उसका भी लाभ आपको योजना मे मिलता है। आपको इसके लिए १३५० से ज्यादा हेल्थ पैकेजेस उपलब्द है। 

    • डबल वाल्व रिप्लेसमेंट सर्जरी 
    • स्कूल बेस सर्जरी खोपड़ी की सर्जरी 
    • एंटीरियर स्पाइन फिक्सेशन 
    • फुफुसिया वाल्व रेप्लस मेन्ट 
    • कैरोटिड एंजियोप्लास्टी विथ स्टेंट 
    • प्रोस्टेट कैंसर 
    • जलने के बाद की ट्रीटमेंट 
    • गैस्ट्रिक पुल्ल उप 


    जो बीमारिया शामिल नहीं है उनकी लिस्ट :

    • OPD 
    • ड्रग्स लेने के बाद की ट्रीटमेंट 
    • ऑर्गन ट्रांसप्लांट (अंग प्रत्यारोपण)
    • फर्टिलिटी संबधी प्रक्रिया 
    • कॉस्मेक्टिक समन्धि ट्रीटमेंट 
    • व्यक्तिगत निदान

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां